“गौरैया का घर सजाओ “एक दिवसीय कार्यशाला संपन्न

मिशन बेटियां व मानव ऑर्गेनाइजेशन के संयुक्त तत्वाधान में कार्यशाला हुई संपन्न

0

ललितपुर।  पूरे विश्व में गौरैया की आबादी 60 से 80 फीसद तक कम हुई है। कभी इंसानों के घरों में अपना बसेरा बनाने वाली गौरैया आज विलुप्त होने की कगार पर पहुंच गई है।गौरैया के संरक्षण के लिए लोगों को जागरूक करने को रविवार को मिशन बेटियां के कार्यालय में मिशन बेटियां व मानव ऑर्गेनाइजेशन एक कार्यशाला संपन्न हुई!

जिसमें नन्हे-मुन्ने बच्चों ने अपनी कल्पनाओं से हाथ में कूची लेकर गौरैया के मिट्टी व लकड़ी के घरों को सजाया। यादों में गौरैया की चर्चा करते हुए  एड. पुष्पेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि गौरैया को बचाना है तो पर्यावरण को बचाना गौरैया संरक्षण को लेकर जागरुकता फैलानी होगी।

आओ गौरैया घर सजाएं कार्यक्रम की संयोजक उर्वशी साहू ने कहा कि बाल मन में हम जो छवि बनाएंगे वही छवि हमारे पर्यावरण को बचाने के लिए सार्थक होगी, इसलिए समाज में हमेशा इस तरह के आयोजन होते रहने चाहिए। नेहरू महाविद्यालय के प्रवक्ता डा.राजीव कुमार निरंजन ने कहा कि पर्यावरण को बचाना हर व्यक्ति का मूल कर्तव्य है, उसे कभी भी अपने कर्तव्य से विमुख नहीं होना चाहिए और सदैव गौरैया संरक्षण के लिए आगे रहना चाहिए।

इस कार्यशाला में आराध्या सिंह, डॉली राजा, रुद्रशिव, पीहू लखेरा, वैष्णवी लखेरा, आयुष कुशवाहा, नैतिक दत्त कुशवाहा, स्वस्ति सरावगी, दुर्गा रानी गुप्ता, रूद्रिका सरावगी, लवली कुशवाहा, सानिया खान, नव्या निरंजन, आयुषी पटेल, अंकित दत्त कुशवाहा, डा. विकास गुप्ता, एड. रोहित कुशवाहा, बसंती कुशवाहा, अमित लखेरा ने प्रतिभाग किया।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/convbkxu/bundelkhandkhabar.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352

LEAVE A REPLY