मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन ,प्रदेश में लागू किया जाये अधिवक्ता सुरक्षा कानून

0

 

ललितपुर_ प्रदेश में अधिवक्ताओं पर बढ़ती हिंसा, उत्पीडऩ व आत्महत्या जैसे मामलों को गंभीरता से लेते हुये उत्तर प्रदेश बार काउंसिल के आह्वान पर शनिवार को अधिवक्ताओं ने प्रस्ताव रखा।

एकजुट होकर नारेबाजी करते हुये जिला प्रशासन के जरिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन भेजा गया।  ज्ञापन में अधिवक्ताओं ने आरोप लगाते हुये मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि जनपद महोबा में पुलिस अधीक्षक एवं क्षेत्राधिकारी पुलिस के संरक्षण में पल रहे माफियाओं के उत्पीडऩ से क्षुब्ध होकर अधिवक्ता मुकेश पाठक के द्वारा आत्म हत्या की गई।

तो वहीं मेरठ में विधायक दिनेश खटीक व माफियाओं के उत्पीडऩ से क्षुब्ध होकर अधिवक्ता ओमकार तोमर को आत्महत्या के लिए विवश होना पड़ा, किन्तु प्रशासन आखें बन्द कर समाधि लगाये बैठा है। आये दिन अधिवक्ताओं की हत्या हो रही है या उनको आत्म हत्या करने के लिए विवश होना पड़ रहा है। जिला बार- बार एसोसिएशन ने इन घटनाओं की कड़े शब्दों में निंदा करते हुये विरोध दिवस मनाया।

इसके साथ ही पांच सूत्रीय मांगों को रखते हुये दोषी पुलिस कर्मियों व विधायक सहित सभी दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्यवाही किये जाने की व दोषी व्यक्तियों की अविलम्ब  गिरफ्तारी  की जावे, एवं पुलिस अधिकारियों की उच्च स्तरीय निष्पक्ष जांच करवाकर दोषी पुलिस अधिकारियों को बर्खाश्त किये जावे|

दिवंगत अधिवक्ताओं के परिवार वालों को 1-1 करोड़ रूपया मुआवजा राशि प्रदान किये जाने, अधिवक्ताओं की सुरक्षा हेतु उ.प्र. में अधिवक्ता सुरक्षा कानून लागू किये जाने, उ.प्र. सरकार की ओर से प्रत्येक अधिवक्ता का 50 लाख रूपये का निशुल्क बीमा करवाये जाने की मांग उठायी गयी।

इस दौरान जिला बार एसोशियेशन अध्यक्ष ओमप्रकाश घोष, महामंत्री शंकरलाल कुशवाहा, कोषाध्यक्ष महेन्द्र जैन झब्बू, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सत्येन्द्र श्रीवास्तव, कनिष्ठ उपाध्यक्ष प्रदीप कुमार अगरिया, राजेश कुमार श्रीवास, छोटेलाल कुशवाहा, सहमंत्री प्रकाशन विवेक श्रीवास्तव, सहमंत्री पुस्तकालय कुलदीप श्रीवास्तव, सहमंत्री प्रशासन विजय कुमार सिंह, वरिष्ठ सदस्य जमील अहमद, घनश्याम वर्मा, रामपाल सिंह निरंजन, वैभव कुमार जैन, रमेशचंद्र कुशवाहा, संदेश कुमार जैन, कनिष्ठ सदस्य देवेन्द्र कुमार शर्मा, रामलखन यादव, अरमान कुरैशी, नरेन्द्र कुमार महोबिया, अशोक कुमार, सूर्यप्रकाश राय के अलावा अकिंत जैन बंटी, राजेश पाठक, बृजेन्द्र सिंह चौहान, पुष्पेन्द्र सिंह चौहान, शेर सिंह यादव, हरीराम राजपूत, हरदयाल सिंह लोधी, रतीराम कुशवाहा, राकेश तिवारी, राजेन्द्र सिंह, विक्रम सिंह ठाकुर, मनीष श्रीवास्तव, राकेश गौतम, भगवत नारायण, राजपाल सिंह, दर्शन बड़ौनियां, सुनील, शंकर कुशवाहा, दिनेश जैन, इकबाल बेग, जमील खान, नीरज मोदी, गोविन्द नारायण सक्सेना, उदय सिंह यादव, प्रतीश तिवारी, मानवेन्द्र सिंह यादव, रामनरेश दुबे, पवन तिवारी, प्रसन्न कौशिक, कृष्ण गोपाल कुशवाहा, वसीम खान, उमाशंकर कुशवाहा, मुकेश, के.पी.राजपूत के अलावा अनेकों अधिवक्ता मौजूद रहे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/convbkxu/bundelkhandkhabar.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352

LEAVE A REPLY