किताबों की जरा सुनके देखिये,ये किताबें बोलती है|

0

 

किताबें अपने आप में ही एक ख़ूबसूरत शब्द है,कभी समय मिले तो इस शब्द को सुनकर देखो,किताबें कुछ कहना चाहती हैं। तुम्हारे पास रहना चाहती हैं॥

ललितपुर। विकास खण्ड जखौरा के प्राथमिक विद्यालय नई बस्ती देहरे बाबा में मसौरा न्याय पंचायत के सभी विद्यालयों में प्रिंट की अवधारणा, मौखिक भाषा विकास के लिए रीडिंग कार्नर बनाये जा रहे है।

रीडिंग कार्नर को बोलती किताबें नाम दिया गया है। बोलती किताबें में कभी शिक्षक बच्चों के साथ किताबों की रिव्यू करते हैं, कभी शिक्षक और बच्चें गप्पें लगाते हैं, कभी बच्चों को किसी ऑडियो बुक की झलक सुनवाते हैं।

कभी बच्चों के साथ कहानी चित्रण पर बात करते है। प्रधानाध्यापक अनन्त तिवारी ने बताया कि विद्यालयों में रीडिंग कार्नर बनाने, बच्चों में कहानियाँ सुनने सुनाने के लिए मसौरा न्यायपंचायत के सभी विद्यालयों में खण्ड शिक्षा अधिकारी जमील अहमद, गूंज संस्था के सुशील और समुदाय के सहयोग से 20 हजार किताबें ष्टष्ठ खेल सामग्रियाँ विद्यालयों को उपलब्ध कराई गईं।

इससे विद्यालयो का सौहाद्र पूर्ण वातावर्ण बनाया जायेगा जिससे बच्चों में विद्यालय के प्रीति रुचि बढ़ेगी जिससे विद्यालयो में ठहराव के साथ साथ उपस्थिति भी बढ़ेंगी साथ ही सीखने के स्तर में बृद्धि होगी।

इस मौके पर हीरा झां, शिवसुधा सचान, उर्वशी साहू, कल्पना, सोनम जैन, हबीबा बनो, अनिल शर्मा हरीराम खरे, अरविंद तिवारी, राजेश साध्य, अनिल शर्मा, सन्ध्या प्रजापती, मनीषा देवी, अंशु गुप्ता, समाजसेवी मज्जू सोनी, राम कोटी तिवारी आदि मौजूद रहे। संचालन आदर्श रावत ने किया व आभार सुमन शर्मा ने किया।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/convbkxu/bundelkhandkhabar.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352

LEAVE A REPLY