जल्द कराई जाएगी भव्य प्रतिमा की स्थापना: राजा बुंदेला

0

आगामी 2024 तक अलग बुंदेलखंड राज्य का दिख सकेगा स्वरूप
बुंदेलखंड विकास बोर्ड उपाध्यक्ष ने प्रेस वार्ता में दी जानकारी
बांदा। बुंदेलखंड विकास बोर्ड उपाध्यक्ष व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री राजा बुंदेला ने महाराणा प्रताप चौक पहुंचकर ध्वस्त अश्वारोही प्रतिमा को देखा और दुख जाहिर किया। उन्होंने कहा कि वह शासन स्तर पर वार्ता करेंगे और आचार संहित समाप्त होने के बाद भव्य प्रतिमा की स्थापना कराई जाएगी। प्रेस वार्ता में बोलते हुए श्री बुंदेला ने कहा कि आगामी 2024 तक निश्चित रूप से अलग बुंदेलखंड राज्य का स्वरूप दिखेगा। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड की जनता का पलायन रोकने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। कृषि विश्वविद्यालय बांदा में अनेक योजनाएं संचालित की गई हैं। सरकार का प्रयास है कि बांदा में सांई की स्थापना हो, जिसमें हमारे बुंदेलखंड के नौजवान अपनी प्रतिभा को निखार सकें।
अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के पदाधिकारियों के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए श्री बुंदेला ने कहा कि अलग बुंदेलखंड राज्य का कुछ न कुछ स्वरूप निश्चित ही आगामी वर्ष 2024 तक नजर आएगा। उन्होंने कहा कि सरकार बुंदेलखंड के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। बुंदेलखंड की जनता का पलायन रोकने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। जनपद में साईं की स्थापना कराए जाने की बात कही, ताकि बुंदेलखंड के नौजवानों को अपनी प्रतिभा निखारने का मौका मिल सके। बुंदेलखंड विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री राजा बुंदेला ने शासन स्तर से अथक प्रयास करके अश्वारोही प्रतिमा को संरक्षित करने और इसकी दिव्यता और भव्यता के लिए चौराहे के विस्तारीकरण और सौंदर्यीकरण का प्रस्ताव बनाकर बजट पास कराया गया था। बुंदेला को जैसे ही प्रतिमा ध्वस्त होने की जानकारी क्षत्रिय महासभा के विवेक सिंह कछवाह से प्राप्त हुई तो वह बहुत दुखी हुए। शनिवार को श्री बुदेला स्वयं मौके पर पहुंचे और निरीक्षण किया। इसके साथ ही प्रतिमा की पुर्नस्थापना के लिए जिलाधिकारी से वार्ता की। उन्होंने कहा कि वह शासन स्तर पर भी वार्ता करेंगे और आचार संहिता समाप्त होने के बाद भव्य प्रतिमा की स्थापना कराई जाएगी। इस मौके पर अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के प्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष (युवा) विवेक कुमार सिंह कछवाह, महामंत्री शांतिभूषण सिंह गौतम, राम सिंह कछवाह, रमजोर सिह चंदेल, विवेक कुमार सिंह कछवाह, रणजीत सिंह, योगराज सिंह, अनूप सिंह कछवाह, रजत सिंह, लोकेंद्र प्रताप सिंह, बालेंद्र ंिसह गौर, संजय सिंह कछवाह, ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह, रमजोर सिंह चंदेल संरक्षक आदि मौजूद रहे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/convbkxu/bundelkhandkhabar.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352

LEAVE A REPLY