जालौन: BSP में टकराव की आशंका, लेनदारों की भीड़ देख चुपचाप लौटे लालाराम, जानिए क्यों पहुंची थी पुलिस

0

राकेश द्विवेदी

उरई । बसपा के भीतर आरपार की लड़ाई के आसार बनते जा रहे हैं। शहर से बाहर गोपनीय मीटिंग में हिस्सा लेने आ रहे झाँसी जोन के मुख्य सेक्टर प्रभारी लालाराम अहिरवार के भी आने की भनक पाकर बड़ी संख्या में लेनदारों की भीड़ वहाँ पहले ही जाकर एकत्रित हो गई। भीड़ देखकर लालाराम मीटिंग में हिस्सा लिए बगैर ही बिना सूचना के वापस लौट गए। तनाव के बीच मुख्य सेक्टर प्रभारियों ने भरोसा दिलाया कि जिनसे भी पैसा लिया गया है, उसे वापस दिलाया जाएगा। इसी दौरान वहाँ आटा थाना पुलिस भी पहुँची और बिना सूचना के मीटिंग करने पर नाराजगी जताई।

बसपा के भीतर अभी भी गहरी अशांति है। जिनको पार्टी से निष्कासित किया गया, वह अब बांहें सिकोड़कर मैदान में उतर पड़े हैं। जिले से मिली शिकायतों के आधार पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने इसी सप्ताह ग्याचरण दिनकर, नौशाद अली, लालाराम अहिरवार, रामबाबू चिरगइयाँ और ब्रजेश जाटव को झाँसी जोन सेक्टर का दायित्व सौंपा है। लालाराम पर आरोप है कि उन्होंने जिला पंचायत चुनावों में प्रत्याशी बनाने को लेकर कई लोगों से रुपये लिए पर बाद में उन्हें प्रत्याशी नहीं बनाया गया। इतना ही नहीं जिन उम्मीदवारों ने जितना पैसा जमा कराया उतना पार्टी कोष में जमा नहीं हुआ। इसकी शिकायत भी हुई । तब पार्टी ने शिकायत करने वाले पूर्व विधायक संतराम कुशवाहा, जगजीवन अहिरवार, कीरत दोहरे पार्टी से निष्कासित कर जिलाध्यक्ष संजय गौतम को पद से हटा दिया गया। साथ ही सेक्टर प्रभारी भी बदल दिए गए।

नई टीम के साथ ग्याचरण दिनकर, नौशाद अली, लालाराम अहिरवार, रामबाबू चिरगइयाँ झाँसी से आटा टोल प्लाजा के पास स्थित टाटा मोटर्स के लिए रवाना हुए। इसकी भनक लालाराम विरोधियों को हो गई। सभी लोग संतराम कुशवाहा के घर एकत्रित हुए। यहाँ कहा गया कि बसपा को मजबूत करने को सबसे पहले उन कुरीतियों को खत्म किया जाना चाहिए जो दीमक की तरह पार्टी को नुकसान पहुँचा रही हैं। मुख्य सेक्टर प्रभारी लालाराम और निवर्तमान जिलाध्यक्ष संजय गौतम को पार्टी से निष्कासित करने की हुंकार भरी गई।
दोपहर में पूर्व विधायक संतराम कुशवाहा, पूर्व कोआर्डिनेटर कमल दोहरे,जगजीवन अहिरवार, कीरत दोहरे, विजय कुमार भदौरिया ‘बब्बू भदौरिया, संतोष प्रजापति, रवि मिश्रा जगम्मनपुर, सेक्टर अध्यक्ष दुष्यंत दोहरे, सौरभ चौधरी सहित गुड्डू लालपुरा, विकल प्रजापति, प्रमोद राजावत,संतराम पाल,अनिल कुश्तवार आटा के पास स्थित टाटा मोटर्स पहुँच गए।
थोड़ी देर बाद ही सभी मुख्य सेक्टर प्रभारी वहाँ पहुँचे। मौके पर लेनदारों सहित बड़ी संख्या में भीड़ एकत्रित देख लालाराम घबरा गए। उन्होंने नौशाद अली और दिनकर को कुछ बताए बिना ही वापस लौट गए। बताया जाता है कि इसके बाद उन्होंने एसपी को फोन कर इसकी जानकारी दी। तब वहाँ आटा पुलिस ने पहुँच कर बिना सूचना के इतनी भीड़ जुटाने पर आपत्ति जताई और एकत्रित लोगों को हटाया।

इसके पूर्व दिनकर और नौशाद अली ने सभी को आश्वस्त किया कि बहुत जल्द फिर से मीटिंग बुलाकर इस मामले का पटाक्षेप कराया जाएगा। यदि किसी नर पैसे दिए हैं और वह वापस नहीं हुए तो उन्हें वापस दिलाया जाएगा। इस अवसर मुख्य सेक्टर प्रभारी ब्रजेश जाटव , रफीउद्दीन पन्नू सहित अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/convbkxu/bundelkhandkhabar.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352

LEAVE A REPLY