लगातार 4 टेस्ट में डबल सेंचुरी लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने विराट कोहली

0
डबल सेंचुरी लगाने के बाद विराट कोहली

हैदराबाद : बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट मैच के दूसरे दिन विराट कोहली ने डबल सेन्चुरी बनाई। इसी के साथ कोहली दुनिया के पहले ऐसे बैट्समैन बन गए, जिन्होंने लगातार 4 सीरीज में डबल सेन्चुरी लगाई है। उनसे पहले डॉन ब्रैडमैन और राहुल द्रविड़ के नाम तीन लगातार सीरीज में डबल सेन्चुरी का रिकॉर्ड था। 200 रन पूरे करते ही कोहली ने सर डॉन ब्रैडमैन के 69 साल पुराने एक और रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। ब्रैडमैन ने भी कप्तानी करते हुए 4 डबल सेन्चुरी लगाई थी। उनकी ऐसी आखिरी डबल सेन्चुरी 1948 में इंडिया के खिलाफ एडीलेड टेस्ट में थी। सर ब्रैडमैन ने कप्तानी के 12 साल में ऐसा किया। जबकि कोहली ने अपनी कप्तानी के 2 साल में ही यह अचीवमेंट हासिल कर लिया।

दुनिया में लारा सबसे आगे : कैप्टन के तौर पर 4 डबल सेन्चुरी लगाने का रिकॉर्ड डॉन ब्रैडमैन (ऑस्ट्रेलिया) के नाम था। बाद में माइकल क्लार्क (ऑस्ट्रेलिया) ने इसकी बराबरी की। अब कोहली भी दोनों की बराबरी पर आ गए हैं। कप्तान के तौर पर दुनिया में सबसे ज्यादा 5 डबल सेन्चुरी का रिकॉर्ड वेस्ट इंडीज के ब्रायन लारा के नाम हैं। महेला जयवर्धने (श्रीलंका), ग्रेग चैपल (ऑस्ट्रेलिया), स्टीफन फ्लेमिंग (न्यूजीलैंड), ब्रेंडन मैक्कुलम (न्यूजीलैंड) के नाम बतौर कप्तान तीन-तीन डबल सेन्चुरी हैं। एलन बॉर्डर (ऑस्ट्रेलिया), रिकी पोंटिंग (ऑस्ट्रेलिया), हाशिम अमला (साउथ अफ्रीका) और जावेद मियांदाद ने बतौर कप्तान 2-2 डबल सेन्चुरी लगाईं।

भारत में सबसे आगे कोहली : कोहली 4 डबल सेन्चुरी लगाने वाले भारत के पहले कैप्टन बन गए हैं। उनसे पहले नवाब पटौदी, गावसकर, सचिन और धोनी की बतौर टेस्ट कप्तान एक-एक डबल सेन्चुरी थी।

कोहली की डबल सेन्चुरी, कब, कहां, किसके खिलाफ?

1) वेस्ट इंडीज से हुई थी शुरुआत, विदेश में डबल सेन्चुरी लगाने वाले पहले इंडियन कैप्टन बने थे

जुलाई 2016 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ एंटिगुआ टेस्ट में कोहली ने डबल सेन्चुरी लगाई थी। भारत की 85 साल की टेस्ट हिस्ट्री में देश से बाहर डबल सेन्चुरी लगाने वाले वे पहले कैप्टन बने थे।

उनसे पहले यह रिकॉर्ड अजहर के नाम था। उन्होंने 27 साल पहले विदेश में 192 रन बनाए थे। इसके साथ ही यह फर्स्ट क्लास से लेकर वनडे इंटरनेशनल या टेस्ट तक किसी भी फॉर्मेट में कोहली के करियर की पहली डबल सेन्चुरी थी। कोहली 200+ बनाने वाले भारत के 5th टेस्ट कैप्टन बन गए थे। उनसे पहले नवाब पटौदी, गावसकर, सचिन और धोनी ऐसा कर चुके हैं।

2) न्यूजीलैंड के खिलाफ थी दूसरी डबल सेन्चुरी
– कोहली ने अक्टूबर 2016 में इंदौर में न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में डबल सेन्चुरी लगाई। इसी के साथ वे टेस्ट में दो डबल सेन्चुरी लगाने वाले पहले इंडियन कैप्टन बन गए। इसी मैच में विराट और रहाणे ने सबसे बड़ी पार्टनरशिप का रिकॉर्ड बनाया। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 365 रन जोड़े। दोनों ने सचिन तेंडुलकर और वीवीएस लक्ष्मण का 2003-04 में बनाया पार्टनरशिप रिकॉर्ड तोड़ दिया था।

3) इंग्लैंड के खिलाफ 200 बनाकर सचिन का रिकॉर्ड तोड़ा
– दिसंबर 2016 में विराट कोहली ने साल की तीसरी डबल सेन्चुरी लगाई। इंग्लैंड के खिलाफ मुंबई टेस्ट में 200 रन बनाकर उन्होंने सचिन तेंडुलकर का रिकॉर्ड तोड़ा। सचिन ने इससे पहले 2004 और 2010 में एक साल में 2 डबल सेन्चुरी लगाई थीं। इसी के साथ 85 साल के इंडियन क्रिकेट इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब किसी भारतीय कप्तान ने तीन डबल सेन्चुरी बनाई। विराट कोहली बतौर कप्तान भी एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा डबल सेन्चुरी लगाने वाले वर्ल्ड के तीसरे क्रिकेटर बन गए। उन्होंने न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर ब्रेंडन मैक्कुलम की बराबरी की, जिन्होंने 2014 में बतौर कप्तान 3 डबल सेन्चुरी लगाई थी। इस मामले में टॉप पर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर माइकल क्लार्क हैं, जिन्होंने 2012 में बतौर कप्तान 4 डबल सेन्चुरी लगाने का कारनामा किया था।

LEAVE A REPLY