पौधरोपण पर विधायक राजपूत के गंभीर सवाल, मंत्री ने दी सफाई

0
File Photo-MLA Jawahar lal rajpoot

उत्तर प्रदेश सरकार आगामी 15 अगस्त को 22 करोड़ पौधे रोपकर एक बार फिर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाकर गिनीज़ बुक में नाम दर्ज कराएगी, लेकिन विधानसभा में BJP विधायक जवाहर राजपूत (गरौठा) ने पौधरोपण पर विधानसभा में सवाल खड़े कर खामियां गिना दीं. जवाहर राजपूत के सवालों पर वन मंत्री को जवाब देना पड़ा.

@राशि राय

झांसी। पौधरोपण को लेकर हर साल बनाए जाने वाले विश्व रिकॉर्ड पर विधानसभा में गंभीर सवाल उठाए गए। गरौठा विधानसभा के विधायक जवाहर लाल राजपूत ने विधानसभा में वन मंत्री दारासिंह के जवाब पर कहा कि पौधरोपण का विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए करोड़ों रुपए एक दिन में फूंक देते हैं, लेकिन रोपे गए पौधों को संरक्षित रखने पर कोई ध्यान ही नहीं है। यही हाल वृक्ष स्थानांतरण का भी है।
उत्तर प्रदेश विधानसभा में पर्यावरण को होने वाले नुकसान को लेकर

विकास के नाम पर बड़ी संख्या में होने वाले पेड़ों के कटान पर विधायक जवाहर राजपूत ने बुधवार को सदन में कहा, ‘जिस देश के वैज्ञानिक चांद पर जाकर झंडा गाड़ रहे हैं उस देश में हम हरे पेड़ को उखाडक़र दूसरी जगह स्थानांतरित नहीं कर पा रहे हैं। हम ऐसे ही पेड़ कटवाते रहे तो इसके परिणाम भयानक होंगे। जलवायु परिवर्तन इन्ही लापरवाहियों का ही तो नतीजा है। बुन्देलखण्ड वैसे ही पानी को प्यासा है और यहां के वृक्ष कटान और पहाड़ों को खत्म किए जाने से यहां बारिश होना बंद हो गई है।’
विधायक राजपूत ने विधानसभा में पौधरोपण पर भी गंभीर सवाल उठाते हुए कहा है कि’ सरकार हर साल पौधरोपण का लक्ष्य देकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाती है, लेकिन जो पौध लगाई जाती है वह लगाए गए स्थानों पर मिलती ही नहीं है। उचित रखरखाव की व्यवस्था के चलते पौधरोपण अभियान करोड़ों खर्च करने के बाद भी विफल हो रहे हैं और इसके लिए कोई जिम्मेदार नहीं होता।’ उन्होंने सदन में पूछा कि पौध लगाने से क्या फायदा है जब उसके सुरक्षित रखे जाने का कोई प्लान नहीं है। भाजपा विधायक ने कहा कि पहले कितना पौधरोपण किया गया और वर्तमान में कितने पौधे मौके पर जीवित बचे हैं इनकी भी गिनती होनी चाहिए। पौधें के मरने, पेड़ों और पहाड़ों को कटने से रोकना होगा।

वन मंत्री ने पौधरोपण पर विधानसभा में दिया जवाब

विधायक जवाहरलाल राजपूत के सवाल का जवाब देते हुए वन मंत्री दारा सिंह चौहान ने कहा कि जो वृक्ष लगाए जा रहे हैं उन्हें जियो टैगिंग कर संरक्षित किया जा रहा है. साथ ही उन्होंने कहा कि क्लाइमेट चेंज होने पर पूरी दुनिया चिंतित है और सरकार भी इसके लिए जरूरी कदम उठा रही है।

LEAVE A REPLY