निकाय चुनाव: पहले चरण में पड़े 53 फीसदी वोट, 26,314 प्रत्याशियों का भाग्य कैद

0

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में हो रहे नगरीय निकाय चुनावों के पहले चरण का मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुआ। राज्य निर्वाचन आयुक्त एस.के. अग्रवाल के अनुसार प्रदेश के 24 जिलों में हुए पहले चरण के चुनाव में 53 फीसदी मतदान हुआ। यह पिछले चुनाव से अधिक माना गया है.security nikay

2012 में हुए चुनाव में इन्हीं जिलों में 46 फीसदी वोट पड़े थे। बदायूं नगर पालिक परिषद के एक पोलिंग बूथ पर पुर्नमतदान करवाया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में वोट डाला, जबकि भाजपा सांसद साक्षी महाराज उन्नाव में वोट नहीं डाल सके। उनका नाम मतदाता सूची में नहीं था। वहां बीएलओ को निलंबित किया गया है।इन जिलों में पड़े वोटपहले चरण का मतदान शामली, मेरठ, हापुड़, बिजनौर, बदायूं, हाथरस, कासगंज, आगरा, कानपुर नगर, जालौन, हमीरपुर, चित्रकूट, कौशाम्बी, प्रतापगढ़, उन्नाव, हरदोई, अमेठी, फैजाबाद, गोण्डा, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, गाजीपुर और सोनभद्र में हुआ। इनमें मेरठ, आगरा, कानपुर नगर, फैजाबाद और गोरखपुर के नगर निगम भी शामिल हैं।

राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक, बदायूं की नगर पालिका परिषद के वार्ड संख्या 13 के मतदान केन्द्र साहू धर्मशाला के पोलिंग बूथ संख्या 72 पर शाम 4.25 बजे करीब पन्द्रह-बीस लोग बूथ के अन्दर घुस गए और कुछ बैलेट पेपर फाड़ दिए। यह लोग कुछ फटे हुए बैलेट पेपर मतपेटी में डालकर भाग गए। इस संबंध में राज्य निर्वाचन आयुक्त के निर्देश पर एफआईआर करवाई गई और इस बूथ पर पुर्नमतदान करने का फैसला लिया गया।

बदायूं की नगर पालिका परिषद के ही वार्ड संख्या छह के मतदान केंद्र इस्लामिया इण्टर कालेज के बूथ संख्या 33 पर 11.25 बजे कुछ अज्ञात लोग अन्दर घुस गए और अध्यक्ष पद के पांच और सदस्य पद के आठ मतपत्र लेकर भाग गए। इस संबंध में थाना कोतवाली बदायूं पर मुकदमा दर्ज करवा गया है। पुलिस ने जालंधरी सराय निवासी गिरीश कुमार पुत्र जय प्रकाश और सम्राट नगर निवासी महेन्द्र कश्यप पुत्र मुंशीलाल को गिरफ्तार किया है। उक्त 13 मतपत्र बरामद कर लिए गए और उन्हें निरस्त कर दिया गया है। मतदान की प्रक्रिया बाधित नहीं हुई है।

इसी तरह शामली नगर पालिका परिषद के वार्ड संख्या 10 के मतदान केन्द्र प्राइमरी पाठशाला माजरा रोड स्थित मतदान केन्द्र के बूथ संख्या 43 पर अध्यक्ष पद की निर्दलीय प्रत्याशी अंजना बंसल द्वारा एजेण्टों को खाने के पैकेट वितरित किए जा रहे थे, जिस पर चुनाव निशान (जीप) अंकित था। सेक्टर मजिस्ट्रेट ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन करार देते हुए अंजना बंसल के खिलाफ थाना शामली में मुकदमा दर्ज करवाया है। राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री अग्रवाल ने बताया कि पहले चरण के इस चुनाव में नगर पालिका परिषद के सदस्य पद पर 11 प्रत्याशी निर्विरोध चुने गए हैं। इसी तरह नगर पंचायत सदस्य के पद पर 22 प्रत्याशी निर्विरोध चुने गए हैं। आगरा में दयालबाग नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पद पर भी निर्विरोध चुनाव हुआ है।

 

LEAVE A REPLY