बुंदेलखंड की सभी 19 सीटों पर सपा-कांग्रेस-बसपा का सूपड़ा साफ़, दीपनारायण जैसे दिग्गज हारे, जानिये कौन कहाँ से जीता

0
झाँसी में जीत के बाद जश्न मनाते बीजेपी के कार्यकर्ता

झाँसी : भारतीय जनता पार्टी ने बुंदेलखंड में प्रत्याशित जीत हासिल की है. बुंदलेखंड की सभी 19 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों ने अपना परचम लहराया है. गरीब किसान के तौर पर पहचाने जाने वाले बीजेपी के झाँसी की गरौठा की सीट से प्रत्याशी किसान नेता जवाहर राजपूत ने सपा के दीपनारायण जैसे दिग्गज को हरा दिया है. बुंदलेखंड भर में कई दिग्गजों को हार मिली है. झाँसी की बबीना सीट से चन्द्रपाल सिंह यादव के बेटे यशपाल सिंह यादव को हार का सामना करना पड़ा है.

ये रही बुंदेलखंड की स्थिति

झाँसी सदर सीट पर रवि शर्मा लगातार दूसरी बार विधायक बने. उन्हें कुल एक लाख 17 हज़ार 837 वोट मिले. वहीँ जीत के दावेदार माने जा रहे बसपा के सीताराम कुशवाहा 62095 वोट मिले. कांग्रेस के प्रत्याशी राहुल राय यहाँ तीसरे नम्बर पर रहे. उन्हें कुल 51242 मिले.

झाँसी की गरौठा विधानसभा सीट पर जवाहर लाल राजपूत ने दीप नारायण को हराया. जवाहर राजपूत को 93282 वोट मिले. उन्होंने बीजेपी के दिग्गज दीप नारायण सिंह यादव को हराया. दीप नारायण यादव 77, 423 वोट मिले. बसपा के अरुण कुमार मिश्र 48320 वोटों के साथ तीसरे नम्बर पर रहे.

झाँसी की बबीना सीट पर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी राजीव सिंह पारीछा ने 96520 वोटों के साथ जीत दर्ज की. उन्होंने सपा के प्रत्याशी यशपाल सिंह यादव को हराया. यश पाल को कुल 79754 वोट मिले. वहीँ इस सीट पर बसपा के विधायक रहे कृष्णा पाल राजपूत को 42499 वोट मिले.

मऊरानीपुर विधानसभा सीट पर बीजेपी के विहारी लाल आर्य ने जीत दर्ज की. उन्हें कुल 75447 वोट मिले. यहाँ दूसरे नम्बर पर प्रागीलाल अहिरवार ने 62629 वोट मिले. सपा की विधायक रहीं रश्मि आर्या को 60619 वोट मिले. वह तीसरे नम्बर पर रहीं.

जालौन जिले की उरई सीट पर भारतीय जनता पार्टी के गौरीशंकर ने 99450 वोट जीत दर्ज की है. यहाँ सपा के महेंद्र सिंह 49358 वोट मिले. कालपी से भाजपा के नरेन्द्र पाल सिंह 61278 वोट के साथ जीते. बसपा के छोटे सिंह को 31178 वोट मिले. तीसरे नम्बर पर कांग्रेस की उमा कान्ति रहीं. उन्हें 17274 वोट मिले.

जालौन की माधौगढ़ सीट पर भाजपा के मूलचंद सिंह 41171 वोटों के साथ जीते. कांग्रेस के विनोद चतुर्वेदी 24110 वोट मिले. बहुजन समाज पार्टी के गिरीश कुमार तीसरे नम्बर पर हैं.

ललितपुर जिले की सदर सीट पर राम रतन कुशवाहा ने जीत दर्ज की. उन्हें कुल 156783 वोट मिले. सपा की ज्योति लोधी को 88562 वोट मिले. बसपा के संतोष कुशवाहा 55479 वोट के साथ तीसरे नम्बर पर रहे.

ललितपुर की महरौनी सीट पर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी मनोहर लाल 159227 वोट के साथ जीते. उन्होंने बसपा के विधायक रहे फेरन लाल अहिरवार को हराया. इस सीट पर कांग्रेस के ब्रजलाल खाबरी को कुल 43125 मिले.

महोबा सदर सीट पर भाजपा के राकेश गोस्वामी को 88062 वोट मिले. जबकि सपा के सिद्धगोपाल साहू 56697 वोट पाकर दूसरे नम्बर पर है. बसपा के अरिमर्दन सिंह 41696 वोट के साथ तीसरे नम्बर पर रहे.

महोबा की चरखारी सीट पर ब्रज भूषन राजपूत को 98189 वोट मिले. उन्होंने सपा की विधायक रहीं उर्मिला राजपूत को हराया. उर्मिला ने 54219 वोट पाए. बसपा के जीतेन्द्र मिश्रा 47268 वोट पाकर तीसरे स्थान पर रहे.

हमीरपुर सदर सीट पर भारतीय जनता पार्टी अशोक चंदेल को 110888 वोट मिले. सपा के मनोज प्रजापति दूसरे नम्बर पर 62233, बसपा के संजय दीक्षित 60543 वोट मिले.

हमीरपुर की राठ सीट पर भाजपा की मनीषा अनुरागी ने 147146 वोट हासिल किये. कांग्रेस के गयादीन अनुरागी को 42553 वोट मिले. बसपा के अनिल अहिरवार को 38542 वोट मिले.

बांदा सदर सीट पर भाजपा के प्रत्याशी प्रकाश द्विवेदी ने 62080 वोट पाकर जीत दर्ज की. बसपा के मधुसूदन कुशवाहा ने 32367 व कांग्रेस के विवेक कुमार ने 23982 वोट हासिल किये.

बाँदा की बबेरू सीट पर भाजपा के चन्द्रपाल सिंह कुशवाहा ने 62474 वोट हासिल कर जीत प्राप्त की. सपा के विशम्भर सिंह 43747 वोट के साथ दूसरे नम्बर पर, बसपा से किरन यादव ने 44817 वोट प्राप्त किये.

बाँदा की नरैनी सीट से से भाजपा प्रत्याशी राजकारण कबीर 64382 वोट पाकर जीते. वहीँ दूसरे नम्बर पर रहे कांग्रेस के भरत लाल दिवाकर को 27755 वोट मिले. नेता प्रतिपक्ष रहे ग्याचरण दिनकर 26644 वोट तीसरे नम्बर पर रहे.

बाँदा की तिंदवारी सीट पर बीजेपी के ब्रजेश प्रजापति 82030 वोट पाकर जीते. बसपा के जगदीश प्रजापति 44572 व कांग्रेस के दलजीत सिंह को 41779 वोट मिले.

चित्रकूट सदर कर्वी सदर सीट पर चन्द्रिका उपाध्याय ने सपा के वीर सिंह पटेल को हराया. वहीँ मऊ मानिकपुर सीट पर भाजपा प्रत्याशी आरके पटेल जीते.

बुंदलेखंड की सभी सीटों पर भाजपा का कब्ज़ा हो गया. इन नतीजों से पहले तक सपा के पास बुंदलेखंड में 7 सीटें थीं. बसपा के पास 6 सीट थीं. वहीँ भाजपा के पास सिर्फ एक सीट थी. एक के बाद बुंदेलखंड में सभी सीटों पर कब्ज़ा कर बीजेपी ने इतिहास रच दिया है.

LEAVE A REPLY