सीने के बाहर धड़क रहा बुंदेलखंड की इस बच्ची का दिल, एम्स रेफ़र, पिता बोला मेरी बच्ची के लिए दुआ करो

0

छतरपुर । बुंदेलखंड की पर्यटन नगरी खजुराहो के एक परिवार में ऐसी बच्ची का जन्म हुआ है जिसका दिल सीने के बाहर धड़क रहा है. बच्ची का जन्म होने के बाद डॉक्टर हैरान रह गए. इस बच्ची को जन्म के फ़ौरन बाद  मध्यप्रदेश के छतरपुर जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया.  जिसका धड़कता हुआ दिल साफ नजर आ रहा है. बच्ची बेहद खूबसूरत है, मगर उसकी माँ उसका दिल बहार देखकर दरी हुई है. फिलहाल  इस बच्ची को सरकारी खर्च पर उपचार के लिए दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भेजा गया है। फिलहाल अब इस बच्ची को उपचार के साथ ही दुआओं की भी जरुरत है.

जिला अस्पताल के शिशुरोग विशेषज्ञ डॉ. लखन तिवारी ने बताया कि पर्यटन नगरी खजुराहो निवासी अरविंद पटेल की पत्नी प्रेमकुमारी ने बुधवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक बच्ची को जन्म दिया, जिसे देखकर सभी हैरान  रह गए। इस अद्भुत बच्ची का दिल शरीर से बाहर था और साफ़ धड़कता हुआ नजर आ रहा था। उसे सामान्य स्थिति में लाने के लिए जिला अस्पताल लाया गया। यहां से उसे दिल्ली के एम्स रेफर कर दिया गया है।
डॉ. तिवारी ने कहा कि ऐसा मामला लाखों में एक सामने आता है। किसी का दिल बाहर से दिखाई दे, यह सामान्य स्थिति नहीं है। इसका कारण रेडिएशन का प्रभाव, सूर्यग्रहण के समय की किरणें वगैरह हो सकता है।
अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. आर.सी. त्रिपाठी ने रविवार को बताया, “शरीर में दिल हड्डियों और चमड़ी के खोल में छुपा रहता है, मगर इस बच्ची के साथ ऐसा नहीं है। गर्भ में इसका हृदय पूरी तरह बना है, मगर उसके ऊपर की हड्डियां और खाल पूरी तरह नहीं बन सकी है, जिस वजह से हृदय बाहर से ही धड़कता नजर आ रहा है।
उन्होंने कहा, नवजात बच्ची की नाजुक स्थिति को देखते हुए उसे स्थानीय चिकित्सक की देखरेख में सड़क मार्ग से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान (एम्स) दिल्ली भेजा गया है।

वहीँ नवजात बच्ची के पिता का कहना है, हमें भगवान् ने बच्ची दी है तो वह इसे जिन्दगी भी दें. सरकार ने दिल्ली भेजकर उपचार कराने की व्यवस्था की है. में भगवान् से प्रार्थना करता हूँ कि मेरी बच्ची सामान्य रूप से स्वस्थ हो जाये. लोगों से भी यही गुजारिश है की वह मेरी बेटी के लिए दुआ करें.

LEAVE A REPLY