क्रय केन्द्र पर अनियमितता बरत रहे अफसर को संरक्षण, किसान को सजा, पिटाई से भडके किसान

0
@राहुल श्रोती
मड़ावरा(ललितपुर)। शुक्रवार को उड़द क्रय केन्द्र पर टोकन नम्बर को लेकर अनियमितता की सूचना मिलने पहुंचे तहसीलदार पर एक किसान के साथ मारपीट किये जाने का मामला संज्ञान में आया है। किसान के साथ मारपीट की जानकारी मिलते ही कई किसान नेता और भाजपा के स्थानीय नेता मौके पर पहुँच गये और पीड़ित किसान को लेकर एसडीएम कार्यालय पहुंचकर नारेबाजी करने लगे। किसानों ने घटना की निंदा करते हुये उपजिलाधिकारी से तहसीलदार को निलंबित किये जाने की मांग की। एसडीएम से मिले आश्वासन से असंतुष्ट किसानों ने पीड़ित किसान को तहसील के सामने सड़क पर रखकर रोड-जैम कर दिया।
किसान के साथ मारपीट एवं चक्का-जैम की सूचना मिलते ही स्थानीय प्रशासन हरकत में आया और विभिन्न थानों की पुलिस समेत किसान यूनियन के नेता भी मौके पर पहुंचे गये। एसडीएम एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी ने नाराज किसानों को समझाने के काफ़ी प्रयास के बाद जैम खुलवाकर घायल किसान को उपचार के लिये अस्पताल पहुंचाया गया। मामले की संजीदगी के समझते हुये अपर जिलाधिकारी योगेन्द्रबहादुर भी ने भी अस्पताल पहुंचकर घायल का हालचाल लेते हुये मामले को जांच कराते हुये कार्यवाही का आश्वासन दिया। वहीं किसान यूनियन के नेताओं ने एडीएम से मुलाकात कर घटना की निंदा करते हुये आरोपी को निलंबित करते हुये प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग की अन्यथा की स्थिति में जिला मुख्यालय पर अनशन करने की चेतावनी दी गयी।
  • टोकन नम्बर को लेकर हुआ विवाद
 थाना मड़ावरा अंतर्गत ग्राम गोराकछया निवासी अशोक पुत्र नथू कुशवाहा ने तहरीर सौंपते हुये बताया कि वह अपनी उड़द की फसल लेकर चार दिनों से तिसगना स्थित क्रयकेन्द्र पर अपनी बारी का इन्तेजार कर रहा था। शुक्रवार को उसके बाद के नम्बर वाले किसानों का माल तौल दिया गया लेकिन उसके ट्रैक्टर को अंदर नहीं जाने दिया गया। मौके पर पहुंचे तहसीलदार ने ट्रेक्टर बाहर करवा दिया और उसकी लाठियों से पिटाई कर डाली।
बोगस टोकन रखने का आरोप
 जहां पीड़ित किसान का कहना है कि उसका टोकन नम्बर 258 था वहीं क्रयकेन्द्र के रजिस्टर में उसका टोकन नम्बर 658 अंकित है जिसकी बिना पर उसके ट्रेक्टर को बाहर कराया गया।
  • IMG-20190104-WA0082भाजपा नेताओं ने की रोड-जैम की अगुवाई
 किसान को पीटे जाने के मामले में नारेबाजी करते हुये नाराज किसानों ने कार्यवाही की मांग करते हुये सड़क पर बैठकर रोड-जैम कर दिया जिसकी कुछ स्थानीय भाजपा नेता अगुवाई करते नजर आये।
बारसंघ ने भी सौंपा ज्ञापन
 रोड-जैम और नारेबाजी की सूचना मिलने पर मड़ावरा पहुंचे अपर जिलाधिकारी से बारसंघ प्रतिनिधिमंडल द्वारा मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपते हुये कार्यवाही की मांग की गई। उन्होंने आरोप लगाते हुये बताया कि तहसीलदार द्वारा न्यायिक कार्यों में रुचि नहीं ली जाती है जिसके चलते वादकारियों को न्याय के लिये भटकना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY