SP Spokesperson पंखुड़ी ने पकड़ा UP सरकार के मंत्री ब्रजेश पाठक का झूठ, अखिलेश के काम को अपना बताकर tweet करने पर घिरे

0

लखनऊ. अखिलेश यादव सरकार में हुए कार्य को अपना बताकर वाहवाही लूटने के चक्कर में BJP के केबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक घिर गए हैं. UP के विधि एवं न्याय, अतिरिक्त उर्जा स्रोत, राजनैतिक पेंशन मिनिस्टर ब्रजेश पाठक ने अखिलेश यादव सरकार के दौरान पुलिस को डिजिटल बना दिए जाने वाले कार्य को अपने twitter अकाउंट पर जारी किया. इसमें UP के जिलों की पुलिस को twitter के माध्यम से सक्रिय दिखाया गया, लेकिन सपा की फायरब्रांड लीडर पंखुड़ी पाठक ने मंत्री पाठक के झूठ को फ़ौरन ही Retweet कर हकीकत से रूबरू करा दिया. पंखुड़ी ने मंत्री का झूठ सार्वजनिक करतेहुए यह बता दिया कि जिन जिलों की पुलिस को वह सूची जारी कर सोशल मिडिया पर सक्रिय बता रही है वह काम तो अखिलेश यादव सरकार के दौरान ही हो गया था.

 

गौरतलब है कि BJP के अन्य नेताओं की तरह ही BSP छोड़कर BJP में शामिल हुए ब्रजेश पाठक भी अखिलेश यादव सरकार के दौरान हुए कार्यों पर सवाल उठाते रहे हैं. विधानसभा में चुनाव प्रचार के दौरान ब्रजेश पाठक ने   समाजवादी पार्टी की पूर्व सरकार पर ‘#कामबोलता है’ के व्यापक प्रचार को हकीकत की कसौटी पर झूठ बताया था. उनका कहना था कि UP में कैसा विकास है?ये काम नहीं झूठा प्रचार वाले गाने बोलते हैं। लेकिन,रात 10.05 बजे किये गए एक tweet को लेकर वह इसकदर घिरे कि उनको कुछ ही देर में अपना tweet डिलीट करना पद गया. दरअसल, मंत्री ब्रजेश पाठक ने tweet के जरिये मुख्यालय पुलिस महानिदेशक UP के हवाले से एक सूची जारी की थी, जिसमें उन्होंने सभी जिलों की पुलिस के twitter अकाउंट की जानकारी देते हुए यह बताने की कोशिस की थी कि BJP सरकार के आते ही UP पुलिस डिजिटल हो गई है और twitter जैसे सोशल   मीडिया प्लेटफार्म  पर कोई भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है. लेकिन उनके tweet के बाद सपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता ने retweet कर मंत्री ब्रजेश पाठक के झूठ की पोल खोल दी. कई और लोगों ने भी इस पर सवाल उठाने शुरू कर दिया. मंत्री ब्रजेश पाठक से bundelkhandkhabar.com ने बात करने की कोशिश की लेकिन उनका बयान हमें नहीं मिल सका. वहीँ सपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक कहतीं हैं, ब्रजेश पाठक ने पूरे चुनाव के दौरान अखिलेश यादव के कार्यों को झुठलाने की कोशिश की. अब सपा के उन्हीं कार्यों का अपने नाम से प्रमोशन कर वाहवाही लूटी जा रही है.क्रिय होने का दावा कर रहे हैं और उनके twitter अकाउंट जारी कर रहे हैं वह तो अखिलेश सरकार पहले ही कर चुकी है. सच के सामने घिरे विधि एवं न्याय मंत्री ने आखिरकार दबाव बनने पर अपना twitter मैसेज डिलीट कर दिया. लेकिन इसके बाद वह झूठ पकडे जाने पर विरोधियों के निशाने पर आ गए.

 

तो क्या मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक को गुमराह करने में जुट गए मंत्री

  UP के विधि एवं न्याय, अतिरिक्त उर्जा स्रोत, राजनैतिक पेंशन मिनिस्टर ब्रजेश पाठक ने जो झूठा tweet किया उसे CM योगी आदित्यनाथ को भी टैग किया था. इसमें अखिलेश सरकार के कार्य को अपनी उपलब्धि बता दिया. बाद में इसे डिलीट कर दिया. अब सवाल यही उठ रहा है कि कि क्या BJP के मंत्री किसी और के कार्यों को अपना दिखाकर वाहवाही लूटने के चक्कर में CM तक को झूठी जानकारी देने से नहीं हिचकेंगे.  

 

LEAVE A REPLY