करैरा से मंगाईं नशे की गोलियों से सीरियल किलर ने दी 33 लोगों को मौत

0

शिवपुरी। वह शिवपुरी जिले के करैरा के एक मेडिकल स्टोर से नशे की गोलियां मंगवाता था और उसके बाद खेलता था मौत का ऐसा खेल जो किसी की भी रूह कपा देगा। सीरियल किलर आदेश खामरा इन्हीं दवाओं की मदद से आदेश ने 33 बेकसूरों को मार डाला। पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि इसके लिए वह पहले अलग दवा का इस्तेमाल करता था। जीएसटी लागू होने के बाद उस कंपनी की दवा बाजार में मिलनी बंद हो गई, इसलिए उसने टेबलेट-84 से अपना काम चलाना शुरू कर दिया।

आईजी जयदीप प्रसाद ने बताया कि अब तक सामने आ चुके 33 कत्ल की गुत्थियों को जोडऩे की कवायद शुरू हो गई है। एक टीम गठित की गई है। कई राज्यों की पुलिस लगातार भोपाल पुलिस के संपर्क में है। भोपाल जोन में आने वाले जिलों विदिशा, भोपाल, राजगढ़ और सीहोर से जुड़े मामलों की जांच भोपाल से ही की जाएगी। वहां के विवेचना अधिकारी भोपाल पुलिस की टीम के साथ मिलकर चालान तैयार करेंगे। मकसद ये है कि पूछताछ में सामने आए तथ्यों का इस्तेमाल मजबूत साक्ष्य के रूप में किया जाए और आदेश को सजा दिलवाई जा सके। अब तक हुई पूछताछ और हाईवे गैंग की कार्यप्रणाली के आधार पर पुलिस एक एडवाइजरी तैयार कर रही है।

जिसने सुधरने की सलाह दी उसका ट्रक भी चुरा ले गया
पहले इस तरह के अपराध में लिप्त रह चुके आदेश के एक परिचित ने जेल से छूटने के बाद मंडीदीप में ढाबा खोल लिया है। उम्र में बड़ा होने के कारण ढाबा संचालक परविंदर ने आदेश को कई मर्तबा सुधरने की सलाह दी। वर्ष 2015 में तो ढाबा संचालक ने आदेश को अपना छह चक्का ट्रक देकर कहा कि इसमें माल ढोना शुरू कर, अच्छी कमाई हो जाया करेगी। सुधरने की बजाए आदेश ढाबा मालिक का ट्रक ही चुरा ले गया। ये बात खुद आदेश ने पूछताछ में पुलिस को बताई है।

15 अगस्त को पेशी पर जाने का कहकर निकला था
आदेश नागपुर में लूट के बाद ट्रक ड्राइवर की हत्या के मामले में गिरफ्तार हो चुका है। वह तकरीबन हर पेशी में मौजूद रहता था। बीती 15 अगस्त को पत्नी और बच्चों से बोलकर निकला था कि पेशी पर नागपुर जा रहा हूं। पेशी अटेंड करने के बाद उसने पुणे से आ रहे शक्कर से भरे ट्रक को लूटने की योजना बना ली। इसी मामले में भोपाल पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

जयकरण और तुकाराम भी हैं सीरियल किलर
आदेश ने भले ही 33 हत्याएं कबूल कर ली हों, लेकिन उसके साथ जयकरण प्रजापति और तुकाराम भी कम नहीं हैं। ये दोनों भी एक सीरियल किलर हैं। भोपाल पुलिस ने हाल ही में पुलिस मुख्यालय को भेजी गई। इनकी आपराधिक पृष्ठभूमि में इसका जिक्र किया है। जयकरण ने बीते आठ महीने के भीतर 14 बेकसूरों का कत्ल किया है। वहीं, तुकाराम बंजारा वर्ष 2013 से अब तक चार वारदातों में शामिल रहा और छह बेकसूरों को मार डाला।

LEAVE A REPLY