बुंदेलखंड के इस SP के समर्थन में सड़क पर उतरा जनसैलाब, प्रदेश सरकार के खिलाफ आंदोलन

0
भोपाल। मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड में स्थित कटनी जिले के एसपी गौरव तिवारी का तबादला सिर्फ इसलिए कर दिया गया क्योंकि उन्होंने भरष्टाचार  के खिलाफ जंग छेड़ रखी है। हवाला कारोबार के जरिये कालाधन खपाने वाले शिवराज सिंह चौहान सरकार के मंत्री संजय पाठक पर वहां के एसपी ने कानूनी शिकंजा कसना शुरू किया तो उनको सरकार ने वहां से हटा दिया। यह एसपी गौरव तिवारी का पिछले 6 माह में दूसरा तबादला है। लेकिन, कटनी जिले के लोगों ने एसपी के समर्थन में खड़े होकर मध्य प्रदेश सरकार के ही खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।  गौरव तिवारी के सपोर्ट में पूरा कटनी शहर सड़कों पर उतर आया। बुंदेलखंड के अन्य ज़िलों के लोग भी एसपी गौरव तिवारी के साथ खड़े होकर  की निंदा कर ट्रांसफर रद्द करने की मांग कर रहे हैं। तिवारी का ट्रांसफर कटनी से छिंदवाड़ा कर दिया गया है। वे एक्सिस बैंक समेत कई बैंकों में फर्जी खातों से 500 करोड़ के हवाला लेन-देन की जांच कर रहे थे।
 बुंदेलखंड के कटनी जिले में लोग पहली बार भाजपा सरकार के खिलाफ सड़क पर हैं। सड़क पर उमड़ रहा यह जनसैलाब अपने लिए कुछ मांगने सड़क पर नहीं आया है, बल्कि जिले के एसपी गौरव तिवारी के समर्थन में आया है।  गौरव तिवारी के सपोर्ट में पूरा कटनी शहर बंद रहा। यहां के सुभाष चौक पर हजारों की तादाद में लोग इकट्ठा हुए। पूरा बाजार भी बंद रहा। लोगों ने तिवारी का ट्रांसफर रद्द करने की मांग की। कटनी में किसी पार्टी या संगठन ने नहीं, बल्कि आम जनता ने ही बंद बुलाया था। इसमें व्यापारी वर्ग से लेकर सभी लोग शामिल थे।
भाजपा सरकार ने इसलिए किया तिवारी का ट्रांसफर
कटनी के एसपी गौरव तिवारी एक्सिस बैंक समेत कई बैंकों में फर्जी खातों से 500 करोड़ रुपए के हवाला लेन-देन की जांच कर रहे थे। तिवारी ने इस हवाला कारोबार की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया था। 4 जनवरी को एसआईटी की जांच में घोटाले के सबसे बड़े सूत्रधार सरावगी बंधुओं के नाम सामने आए थे। इनके चार नौकरों के नाम से कई बोगस कंपनियां बनाई गई थीं। इन बोगस कंपनियों के खातों से करीब 100 करोड़ रुपए के संदिग्ध लेन-देन की बातें सामने आ चुकी हैं। 6 जनवरी तक सरावगी के दो नौकर संदीप बर्मन और संजय तिवारी को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने पूछताछ में सरावगी के राज्य सरकार में मंत्री संजय पाठक के रिश्तेदारों से नजदीकियों की बात बताई थी। बता दें कि तिवारी को हटाकर उनकी जगह सीएम सिक्युरिटी में लंबे समय तक एसपी रहे (मौजूदा देवास एसपी) शशिकांत शुक्ला को कटनी का एसपी बनाया गया है।
सरावगी फरार, मिनी ट्रक भरकर डॉक्युमेंट्स बरामद
– मामले के बाद सरावगी बंधु इसके बाद फरार बताए जा रहे हैं। उनके यहां से एक मिनी ट्रक भरकर डॉक्युमेंट्स बरामद किए गए हैं।
– इससे पहले भी तिवारी ने बालाघाट एसपी रहते हुए लकड़ी माफिया के खिलाफ जंग छेड़ी थी, जिसमें वहां के तब कलेक्टर रहे वी किरण गोपाल पर भी आरोप लगे थे।
– इसके बाद किरण गोपाल को सरकार ने बालाघाट कलेक्टर पद से हटा दिया गया था।
– कुछ समय बाद ही तेजतर्रार अफसर गौरव तिवारी का ट्रांसफर कर कटनी एसपी बनाया गया था।
कांग्रेस ने जेटली को लिखा लेटर
– प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ने अरुण जेटली को लेटर लिखकर गौरव तिवारी के ट्रांसफर का मुद्दा उठाया है। यादव ने लिखा कि इस हवाला कांड में जिस बीजेपी नेता का नाम सामने आ रहा है, उसकी जांच कराई जाए।
– राज्य के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि प्रॉसेस के तहत ही यह ट्रांसफर किया गया है। उन्होंने कहा है कि वो बहुत अच्छा काम कर रहे हैं और उनकी जरूरत छिंदवाड़ा में हैं। हवाला मामले की जांच चल रही है।
– वहीं, डीजीपी ऋषि कुमार शुक्ला ने कहा कि गौरव तिवारी मध्य प्रदेश का गौरव हैं। ट्रांसफर तो एक प्रॉसेस है, जो होनी थी। कानून के हाथ बहुत लंबे हैं। जो दोषी पाया जाएगा, उस पर कार्रवाई होगी।
– पूर्व MLA किशोर समरीते ने तिवारी के मामले में PMO और अमित शाह को लेटर लिखा है। उन्होंने संजय पाठक को मंत्री पद से हटाने की मांग की है।
– इस बीच, सागर में आयोजित BJP की कार्य समिति की बैठक में शामिल होने पहुंचे उच्च शिक्षा राज्य मंत्री संजय पाठक ने मीडिया से चर्चा करते हुए ‘हवाला कांड’ के आरोपों को निराधार बताया। साथ ही, उन्होंने कहा कि गौरव तिवारी एक ईमानदार पुलिस अफसर हैं। उनको छिंदवाड़ा की कमान सौंपी गई है।

LEAVE A REPLY