कोरोना संकट: झांसी के 25  हजार किसानों के खातों में पहुंची प्रधानमंत्री फसल...

कोरोना संकट: झांसी के 25  हजार किसानों के खातों में पहुंची प्रधानमंत्री फसल बीमा क्षतिपूर्ति

0
File Photo- MLA Javahar lal rajpoot
  • कोरोना के कठिन दौर में सरकार दे रही जनता को मदद: जवाहर राजपूत
    जिले के 25 हजार किसानों के खातों में पहुंचा पैसा, हजारों मजदूर व महिलाओं को भी आर्थिक सहायता
    उज्वला योजना से मुफ्त गैस सिलेंडर और महिलाओं के जनधन अकाउंट में 500 रुपए डाल रही सरकार


• जयराम कश्यप 

एरच, गरौठा.  कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर पूरे देश में लॉक डाउन के बीच लोगों की मुश्किलें बढ़ी हैं तो वहीं सरकार इस आपदाकाल में लोगों के साथ भी खड़ी हो रही है। झांसी जिले में केन्द्र और प्रदेश की भाजपा सरकार की कई योजनाएं परेशान लोगों के लिए राहत बनकर आई हैं। इसमें चाहे किसानों के लिए दी जा रही राहत हो या फिर गरीब मजदूर, दुकानदार, पल्लेदार, ठेलेवालों व महिलाओं के खाते में पैसे पहुंचाने का कार्य। सरकार ने अपनी जनता के लिए खजाने का मुंह खोल दिया है।

गरौठा विधायक जवाहर लाल राजपूत ने कहा कि यह वह मुश्किल घड़ी है जब दुनियाभर में सभी कारोबार बंद हो गए हैं। जानलेवा वायरस के हमले से लोगों का जीवन खतरे में पड़ गया है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लोगों तक राहत पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदा के कारण झांसी जिले में खरीफ की फसल तबाह हो गई थी। जिले में सर्वे के बाद 1 लाख 30 हजार किसानों को फसल बीमा क्षतिपूर्ति के लिए 209 करोड़ की धनराशि स्वीकृत हो चुकी है। 2019-2020 खरीफ फसल में तिल, उर्द, मूंगफली नुकसान की क्षतिपूर्ति को अभी तक 25 हजार किसानों के खातों में पहुंचा दिया गया है। यह धनराशि 54 करोड़ रुपए है। इसके अलावा बकाया धनराशि जल्द किसानों के खातों में पहुंचाने के लिए कृषि प्रमुख सचिव देवेश चतुर्वेदी से बात की गई है और यह धनराशि जल्द किसानों के खातों में पहुंचेगी। विधायक राजपूत ने कहा कि कोरोना के समय किसानों के खातों में खरीफ के फसल की मुआबजा राशि भी पहुंचाई जानी शुरू हो गई है ताकि उनको आर्थिक संकट का सामना न करना पड़े।

गरौठा विधायक ने कहा है कि यह समय लोगों के साथ खड़े होने का है और भारत के प्रधानमंत्री ने जो गरीबों की मदद के लिए कदम उठाए हैं उसकी तारीफ कई देशों के साथ डब्ल्यू एच ओ द्वारा भी की गई है। किसानों को खाने पीने में मदद के लिए 2 हजार रुपए तीन माह तक भेजे जा रहे हैं। इसके साथ ही गरीब दिहाड़ी मजदूरों, पल्लेदारों, खोमचे वालों, ठेलेवालों व फेरी वाले व्यापारियों को भी मदद के लिए सरकार उनके बैंक खातों में 1 हजार रुपए प्रतिमाह रुपए भेज रही है। इससे उनको काफी राहत मिल रही है। विधायक राजपूत ने कहा कि सरकार महिलाओं के साथ भी खड़ी हुई है, ताकि उनको आर्थिक संकट का सामना न करना पड़े। जिन महिलाओं के जनधन अकाउंट खोले गए थे उनके बैंक खातों में 500 रुपए प्रतिमाह डाला जा रहा है।

इसी प्रकार उज्वला योजना भी ग्रामीण और शहरी महिलाओं के लिए बड़ी राहत बनकर खड़ी हुई है। इसके तहत महिलाओं को तीन महीने में मुफ्त गैस सिलेंडर दिए जा रहे हैं। वहीं किसी को इस अपदाकाल में भूखा न सोना पड़े इसको लेकर मुफ्त राशन देकर सरकार ही सबसे बड़ा सहारा बनी है। अन्त्योदय योजना, लाल कार्ड, मनरेगा पंजीकृत जॉब कार्ड धारक को 35 किलो राशन दिया जा रहा है। इसके साथ सभी कार्ड धारकों को राशन देकर सरकार मुश्किल घड़ी में जनता के साथ खड़ी है। लगातार लोगों की मदद के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि गरौठा विधानसभा क्षेत्र के लोगों को किसी भी प्रकार की कमी नहीं होने दी जाएगी। हमने गरीब व परेशान लोगों की सूची प्रशासन तक पहुंचाई है ताकि उनको प्रतिमाह आर्थिक मदद दिलाई जा सके। हम अपनी जनता के प्रति फिक्रमंद हैं और उसके साथ खड़े हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY