पुलिस ने एम्बुलेंस का प्रवेश रोका, महिला की इलाज के अभाव में...

पुलिस ने एम्बुलेंस का प्रवेश रोका, महिला की इलाज के अभाव में मौत

0

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के खिलाफ हुए लॉक डाउन से पूरे देश में समस्याएं बढ़ीं हैं। कई जगह से शर्मसार करने को लेकर देशभर में लगाए गए लॉकडाउन के बीज केरल में मानवता को शर्मसार करने घटना सामने आई है। जहां के कासरगोड से 70 वर्षीय बीमार महिला को नजदीक के मंगलुरु ले जा रही एक एंबुलेंस को कर्नाटक पुलिस ने लॉकडाउन की वजह से तालापाडी सीमा पार करने की इजाजत नहीं दी, जिसके बाद रविवार सुबह उसकी मौत हो गई।

बुजुर्ग के परिवार ने बताया कि महिला कर्नाटक से ताल्लुक रखती थीं और कासरगोड में अपने बेटे के पास रहने के लिए आई थीं। उनकी हालत खराब होने के बाद उन्हें मंगलुरु के अस्पताल ले जाया जा रहा था। उन्होंने आरोप लगाया कि परिवार और एंबुलेंस के चालक की लाख मिन्नतों के बावजूद, पुलिस ने शनिवार को गाड़ी को सीमा पार करने की इजाजत नहीं दी और वाहन को वापस कर दिया।

परिवार ने बताया कि बुजुर्ग महिला को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया और फिर घर ले गए, लेकिन आज सुबह उनकी मौत हो गई। अधिकारियों से उनकी टिप्पणी के लिए संपर्क नहीं हो सका। महिला 14 मार्च को अपने बेटे के घर आई थी। दो दिन पहले, गंभीर रूप से बीमार एक व्यक्ति को मंगलुरु के अस्पताल ले जाने की अनुमति नहीं दी गई और उनकी मौत हो गई। बिहार की एक महिला को पड़ोसी राज्य में अपने डॉक्टर के पास नहीं जाने दिया गया, जिस वजह से उसने एंबुलेंस में बच्चे को जन्म दिया।

कर्नाटक ने केरल के साथ लगती अपनी सीमा को सील कर दिया है। इस कारण सीमावर्ती गांवों के लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, वे अपनी स्वास्थ्य संबंधी जरूरतों के लिए मंगलुरु पर निर्भर हैं। इसके अलावा सब्जियों और अन्य जरूरी सामान ले जा रहे ट्रकों को सीमा पर ही रोक दिया गया है। इस बाबत मुख्यमंत्री पी विजयन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY