प्रधानमंत्री के विदेश दौरों से देश को क्या फायदा इसका आंकलन नहीं: PMO

0
नई दिल्ली. पीएमओ ने एक आर टी आई के तहत प्रधानमंत्री के विदेश दौरों से हुए देश को फायदे की जानकारी देने से माना कर दिया है. प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने केंद्रीय सूचना आयोग (CIC) से कहा है कि नरेन्द्र मोदी के विदेश दौरों से हुए फायदे का कैल्कुलेशन नहीं किया जा सकता। यह ऑफिशियल रिकॉर्ड का हिस्सा नहीं है। बता दें कि एक आरटीआई में पीएमओ से मोदी की फॉरेन विजिट्स और उससे जुड़ी कई जानकारियां मांगी गई थीं। जवाब से नाखुश एप्लीकेंट ने सीआईसी का दरवाजा खटखटाया।
जून, 2016 में दायर की गई थी RTI
 दरअसल, एक आरटीआई में पीएम नरेन्द्र मोदी की फॉरेन विजिट्स, इनमें लगे घंटों और फायदों के बारे में जून, 2016 में जानकारी मांगी गई थी। इसे कीर्तिवास मंडल ने दायर किया था। पीएमओ ने जवाब में कहा था कि पीएम की फॉरेन विजिट्स और उस पर हुए खर्च की जानकारी वेबसाइट पर मौजूद है। लेकिन जवाब में कई जानकारियां नहीं मिलने पर मंडल सीआईसी चले गए।

सुनवाई में सीआईसी ने क्या कहा?

– पीएमओ ने 10 अक्टूबर को सीआईसी में हुई सुनवाई में कहा कि विदेश दौरों से हुए फायदे की जानकारी ऑफिशियल रिकॉर्ड में शामिल नहीं है। हम आवेदक को यह बता चुके हैं। इस पर चीफ इन्फॉर्मेशन कमिश्नर राधाकृष्ण माथुर ने अपने ऑर्डर में कहा कि पीएमओ के पास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरों से जुड़ी पूरी जानकारियां नहीं हैं। ये ध्यान रहना चाहिए कि इनमें होने वाला खर्च देश के खजाने से होता है।

 

LEAVE A REPLY