विधायक राजपूत की मांग पर लखनऊ से जारी हुआ क्रॉप कटिंग के प्रयोगों का आदेश

0
gatty image
  • कोरोना संक्रमण से रुक गया था काम, यदि देरी होती तो फसल बीमा से वंचित रह जाते लाखों किसान
    प्रमुख सचिव डा. देवेश चतुर्वेदी ने जिलाधिकारियों को भेजा है आदेश


लखनऊ । कोरोना संकट को देखते हुए किए गए लॉक डाउन के बाद किसानों के लिए एक सरकार ने एक और राहत बड़ा फैसला ले लिया है। गरौठा विधायक जवाहर लाल राजपूत ने रबी की फसल की कटाई शुरू होने के बाद फसलों की क्रॉप कटिंग के प्रयोगों पर इसका असर पडऩे की आशंका व्यक्त की थी। इसकी जानकारी उत्तर प्रदेश सरकार को देते हुए विधायक राजपूत ने कहा था कि यदि क्रॉप कटिंग के प्रयोग नहीं हुए तो किसान को प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ नहीं मिल सकेगा। इसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी जिलाधिकारियों को निर्धारित अवधी में ही क्रॉप कटिंग प्रयोगों का आयोजन करने के निर्देश जारी कर दिए हैं।

गौरतलब है कि दो दिन पूर्व विधायक जवाहर लाल राजपूत ने शासन को सूचना देते हुए जिलाधिकारी झांसी के माध्यम से पत्र भेजा था। इसमें उन्होंने कहा कि यही समय है जब प्रत्येक फसल की क्रॉप कटिंग के प्रयोगों का कार्य होना चाहिए, क्योंकि बेमौसम बारिश आंधी- पानी, ओलावृष्टि आदि से फसलों को हुए नुकसान का आंकलन भी क्रॉप कटिंग से ही होता है और इसी आधार पर किसानों को बीमा कंपनियां क्षतिपूर्ति प्रदान करती हैं। क्योंकि, कोरोना वायरस से 14 अप्रैल तक लॉक डाउन घोषित है। उन्होंने किसानों के हितों को देखते हुए किसानों की चना, मटर, मसूर, सरसों व गेहूं की फसलों की क्रॉप कटिंग के प्रयोगों के कार्य कराने हेतु लेखपाल, राजस्व निरीक्षकों को निर्देशित करने की मांग की थी। इसके बाद अब उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव डा. देवेश चतुर्वेदी ने समय पर क्रॉप कटिंग के प्रयोग कराने के लिए जिलाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं।

प्रमुख सचिव ने जारी आदेश में लिखा है कि रवि की फसलों की कटाई प्रारंभ हो चुकी है। इसलिए यह आवश्यक है कि इन पर आयोजित किए जाने वाले फसल कटाई प्रयोगों का कार्य राजस्व विभाग के लेखपालों कर्मचारियों द्वारा कराया जाए। फसल कटाई प्रयोगों के परिणाम निदेशक कृषि सांख्यिकी एवं फसल बीमा उत्तर प्रदेश के कार्यालय को निर्धारित समयावधि में प्रेषित किया जाए। कटाई प्रयोगों से संबंधित सूचनाओं को भारत सरकार द्वारा बनाए गए ऐप पर भी अपलोड कराया जाए। प्रधानमंत्री फसल बीमा के प्रावधानों के अनुसार फसल कटाई प्रयोगों के आयोजन के समय फसल बीमा कंपनी के प्रतिनिधि उपस्थित रहते हुए आयोजन की प्रक्रिया का अवलोकन कर सकते हैं। इसलिए कटाई प्रयोगों से संबंधित पूर्व सूचना को भी बीमा कंपनी को समय से उपलब्ध करा दिया जाए । इस आदेश के बाद जिलाधिकारी ने क्रॉप कटिंग के प्रयोगों का कार्य शुरू कराने की तैयारी शुरू कर दी है। विधायक राजपूत ने कहा कि ऐसा होने से किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ मिलने में कोई परेशानी नहीं होगी।

LEAVE A REPLY