रेपिस्ट को 48 घंटे बाद भी नहीं पकड़ पाई ललितपुर पुलिस, लोगों में बढ़ रहा है पुलिस के प्रति आक्रोश

0

ललितपुर। 48 घंटे बीत गए लेकिन पुलिस 17 साल की पीड़ित किशोरी के साथ दुष्कर्म करने वाले हैवानों के गिरेवान तक नहीं पहुँच सकी है. दो ही दिन पहले की बात है जब ललितपुर पुलिस के आला अधिकारी के ऑफिस से चंद दूरी पर आधी रात को मंदबुद्धि लड़की से रेप किया गया. वह चीखती रही और उसकी चीखें रात के खामोश अँधेरे थोड़ी ही दूर पर सो रहे अफसरों के कानों तक नहीं पहुंची. पुलिस घटना का सुराग नहीं लगा पाई है. सूबे की योगी सरकार के सख्त निर्देशों के बाद भी ललितपुर पुलिस ने सरकार की मंशा को ताक पर रखकर कलंक लगाने जैसा कार्य किया है.

 

कोतवाली सदर अंतर्गत एक क्षेत्र में रहने वाली मंदबुद्धि नाबालिग 17 वर्षीय किशोरी बीती रात हैण्डपंप पर पानी भरने के लिए गई हुई थी। यहां दो बाइकों पर सवार चार लोगों ने किशोरी का अपहरण कर लिया और उसको पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सामने स्थित फूटा बंगला ले गए। जहां उसके साथ बारी-बारी से सामूहिक दुष्कर्म किया गया। आरोपियों ने हैवानियत की सारी सीमाएं लांघते हुए किशोरी के गुप्तांग पर चाकुओं से प्रहार किए और फरार हो गए। रक्तरंजित बदहवास हालत में किशोरी कोतवाली सदर के सामने से होते हुए बस स्टैण्ड पहुंची और वहां बेहोश हो गई। नातिन को गायब देख उसके नाना व नानी ने किशोरी को खोजने का प्रयास किया, इस बीच उनको बस स्टैण्ड पर किशोरी के पड़े होने की जानकारी मिली। अद्र्धनग्न अवस्था में किशोरी को लेकर उसके नाना व नानी फूटा बंगला पहुंचे। जहां खून से सनी सलवार बबूल के पेड़ पर लटकी मिली। फिर सभी लोग कोतवाली सदर गए और पुलिस अफसरों को घटनाक्रम से अवगत कराया। कोतवाली पुलिस ने जब मामले को गंभीरता से नहीं लिया तब किशोरी को लेकर उसके अभिभावक जिला महिला चिकित्सालय गए। जहां काफी मशक्कत के बाद उसका उपचार शुरू हो सका। बाद में कई घंटों बाद पुलिस आला अधिकारी जिला अस्पताल पहुंचे और पीडि़ता के परिजनों से घटना की जानकारी ली। इस दौरान गंभीर हालत देखते हुए चिकित्सकों ने किशोरी को झांसी रेफर कर दिया। पुलिस अधीक्षक डी. प्रदीप कुमार ने आनन-फानन में घटना के खुलासे को छह टीमें गठित कर दीं। प्रकरण को 48 घंटे बीतने के बाद भी पुलिस आरोपियों का सुराग नहीं लगा सकी है।
लंबी अवधि के बाद भी आरोपियों का कोई सुराग न लगने से से लखनऊ के अफसर भी नाराज हैं. इस मामले पर ललितपुर पुलिस पर कार्यवाई भी हो सकती है.

LEAVE A REPLY