हलछट की पूजा के बाद यमराज हर ले गए मां के प्राण, लेकिन व्रत के कवच ने बचा ली बच्चों की जान

0

 


मां अपने बच्चों की लम्बी उम्र का वरदान मांगकर अभी लौट ही रही थी कि रास्ते में यमराज ने रास्ता रोक लिया। हलछट पर मां अपने बच्चों की दीर्घायु की कामना करती हैं। देवामाता में अर्जी लगाकर अभी वह अपने घर नहीं पहुंची थीं कि सामने से आए ट्रक ने उन्हें रौंद दिया। इस घटना में दो महिलाओं की मौत हो गई, लेकिन उनके बच्चों की जान बच गई।


@सुनील त्रिपाठी

ललितपुर। ललितपुर जिले के तालबेहट से आज खबर दर्दनाक है. मंदिर दर्शन कर लौट रहे बाइक सवारों को यहां एक ट्रक ने रौंद दिया। इसमें दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गयी. जबकि उनके बच्चे और पति घायल हो गए। पति और बच्चों का उपचार किया जा रहा है। इस घटना से तालबेहट में मातम है।

झांसी ललितपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक अनियंत्रित ट्रक ने बाइक में जोरदार टक्कर मार दी। इस घटना में दो महिलाओं की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। दोनों ही महिलाएं हलछट पर्व पर देवामाता मंदिर में अपने बेटों की दीर्घायु की प्रार्थना करने गईं थीं। आज हलछठ पर्व पर मां अपनी संतानों की दीर्घायु के लिए व्रत पूजा करतीं हैं, लेकिन ईश्वर को आज कुछ और ही मंजूर था। देवा माता मंदिर पर जो मां अपने बेटे की दीर्घायु का वरदान मांग कर लौटी तो यमराज ने उनका रास्ता रोक लिया। लेकिन इसे उनके व्रत और पूजा का तेज ही मानें कि दोनों ही महिलाओं 19 वर्षीय प्रीति पत्नि अन्नू रायकवार निवासी तालबेहट और 30 साल की गनेशी पत्नी रवि रायकवार चौबयाना ललितपुर की मौत हो गयी।


ललितपुर के तालबेहट में बड़ा हादसा दो महिलाओं की दर्दनाक मौत

बेटे की दीर्घायु की कामना कर लौट रहीं दो मां का मौत से सामना

दोनों मां की मौत पर बच्चों को नहीं निगल सका काल

देवामाता मंदिर दर्शन कर लौट रहा था परिवार

हलछठ पर यमराज ने हर लिए मां के प्राण, व्रत ने बचा ली बच्चों की बची जान


इस घटना में  दोनों के ही बच्चे साक्षी 5 वर्ष और मोहित 6 वर्ष की जान बच गयी। इनके साथ दोनों का उपचार किया जा रहा है। बताया गया है कि दोनों बच्चों और उनके पिता को झांसी रैफर किया गया है। इस घटना के बाद परिवार का रो रो कर बुरा हाल है ।


Warning: A non-numeric value encountered in /home/convbkxu/bundelkhandkhabar.com/wp-content/themes/Newspaper/includes/wp_booster/td_block.php on line 352

LEAVE A REPLY