नेहरु ने किया था शिलान्यास, 56 साल बाद मोदी ने किया लोकार्पण, 65000 Cr में बना देश का सबसे बड़ा बांध

0

modi-sardaar sarowarकेवडिया (गुजरात). प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने जन्मदिन के मौके पर देश के सबसे बड़े सरदार सरोवर बांध को लोगों के लिए समर्पित कर दिया. एक समारोह के दौरान उन्होंने बांध का लोकार्पण किया. इस बांध की नींव 56 साल पहले तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु ने रखी थी. इसे तैयार होने में 54 साल लग गए. इसकी ऊंचाई 138.68 मीटर है. इसके पहले मोदी ने डैम पर ही मां नर्मदा की पूजा-अर्चना की। प्रोग्राम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, सीएम विजय रूपाणी, डिप्टी सीएम नितिन पटेल और पूर्व सीएम आनंदी बेन पटेल भी मौजूद रहे। मोदी डभोई-वडोदरा में रैली भी करेंगे। 3 दिन में मोदी का ये दूसरा गुजरात दौरा है।

 

– 56 साल के लंबे इंतजार के बाद सरदार सरोवर नर्मदा डैम प्रोजेक्ट पूरा हो गया है। इनॉगरेशन के दौरान डैम के गेट 10-15 मिनट के लिए खोले जा सकते हैं। ऐसा होने पर इससे 30 हजार क्यूसेक पानी बह जाएगा। यह डैम नर्मदा पर बनने वाले 30 बांधों में से एक है।

– डैम पूरा भर जाने पर गुजरात की पीने के पानी और सिंचाई की जरूरतें 6 साल तक पूरी हो सकेंगी। नर्मदा पर यह डैम बनाने की पहल 1945 में सरदार पटेल ने की थी।

15 साल में तैयार हुई थी DPR

– मुंबई के इंजीनियर जमदेशजी एम वाच्छा ने सरदार सरोवर डैम का प्लान बनाया, लेकिन इसकी शुरुआत में ही 15 साल लग गए।
– 15 अप्रैल 1961 को जवाहर लाल नेहरू ने डैम का शिलान्यास किया। 56 साल में बने इस बांध पर करीब 65 हजार करोड़ रुपए खर्च हुए।

मध्यप्रदेश को मिलेगी 57% बिजली, राजस्थान को सिर्फ पानी
– डैम का सबसे ज्यादा फायदा गुजरात को मिलेगा। इससे यहां के 15 जिलों के 3137 गांव की 18.45 लाख हेक्टेयर जमीन की सिंचाई की जा सकेगी।
– बिजली का सबसे अधिक 57% हिस्सा मध्य प्रदेश को मिलेगा। महाराष्ट्र को 27% और गुजरात को 16% बिजली मिलेगी। राजस्थान को सिर्फ पानी मिलेगा।
– बांध बनाने में 86.20 लाख क्यूबिक मीटर कंक्रीट लगा है। इससे पृथ्वी से चंद्रमा तक सड़क बनाई जा सकती थी।

 

यह रही खासियत
1. कांक्रीट के इस्तेमाल के लिहाज से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बांध, अमेरिका का ग्रांट कुली नंबर वन है।
2. बांध पर गुलाबी, सफेद और लाल रंग के 620 एलईडी बल्ब लगाए गए हैं। ये कुल 1000 वॉट के हैँ। इनमें से 120 बल्ब बांध के 30 गेट पर लगे हैं। इनसे होने वाली रोशनी से ओवरफ्लो का आभास होता है।
3. डैम का मौजूदा वॉटर लेवल 128.44 मी. है। इससे 6000 मेगावॉट बिजली पैदा होगी।

तीन दिन में मोदी का दूसरा गुजरात दौरा
– 3 दिन में मोदी का ये दूसरा गुजरात दौरा है। 13-14 सितंबर को वे जापान के पीएम शिंजो आबे के साथ अहमदाबाद आए थे।
– मोदी ने आबे के साथ 8 किमी लंबा रोड शो किया था। किसी विदेशी नेता के साथ मोदी का ये पहला रोड शो था।
– अहमदाबाद में मोदी और आबे ने देश के पहले बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का इनॉगरेशन किया था।
– प्रोजेक्ट के लिए जापान, भारत को 1 लाख करोड़ का कर्ज महज 0.1% इंटरेस्ट पर दे रहा है।

 

LEAVE A REPLY