महोबा में न्यायालय ने सुनायी हत्या के आरोपी पिता-पुत्र को दस-दस साल की सजा

0
महोबा। उत्तर प्रदेश में महोबा जिले की फास्ट ट्रैक कोर्ट ने हत्या के एक मुकदमे में पिता-पुत्र को दस-दस साल कैद और 15-15 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है।
        अभियोजन पक्ष ने बताया कि कबरई क्षेत्र के कोहारी गांव में सम्पत्ति विवाद को लेकर लालाराम की उसके भाई बालेन्द्र ने अपने पुत्रों के साथ मिलकर खेत में हत्या कर दी थी। लालाराम अविवाहित था और अपने भाई त्रिलोक ङ्क्षसह के साथ रहता था। उसकी जायदाद त्रिलोक को मिलने की बात से बालेन्द्र व उसके पुत्र लालाराम से नाराज रहते थे। हत्या के इस मामले में त्रिलोक की तहरीर पर पुलिस ने बालेन्द्र और उसके पुत्र अनुज व राजन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।
       – अभियोजन अधिकारी ने बताया कि एक आरोपी राजन के नाबालिग होने के कारण उसका मामला जुबेनाइल कोर्ट में स्थानांतरित कर दिया गया जबकि बालेन्द्र व अनुज का केस फास्ट ट्रैक कोर्ट ने सुना।
         -अपर जिला सत्र न्यायाधीश फास्ट ट्रैक कोर्ट महेंद्र प्रताप ङ्क्षसह ने मामले में विस्तृत सुनवाई के बाद कल शाम दिए अपने फैसले में साक्ष्यों और गवाहों के आधार पर दोष सिद्ध पाया और  बालेन्द्र और उसके पुत्र अनुज को 10-10 साल की सजा सुनाई।

LEAVE A REPLY