बुंदेलखंड के भानु, रामस्वरूप और अशोक उत्कृष्ट शिक्षकों की कसौटी पर खरे, राज्यपाल करेंगी सम्मानित

0
फाइल फोटो- भानु गोस्वामी

आशीष भट्ट-
भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार इस बार शिक्षक दिवस पर प्रदेश के 41 शिक्षकों को सम्मानित करेगी। बुधवार को प्रशासन अकादमी के स्वर्ण जयंती सभागार में राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह होगा। इसमें बुन्देलखण्ड के तीन जिलों के शिक्षकों समेत प्रदेश के कुल 41 शिक्षकों का चयन किया गया है। बुन्देलखण्ड के दतिया से भानु गोस्वामी, सागर के अशोक कुमार पाण्डेय, दमोह के रामस्वरूप चौरसिया के नाम शामिल हैं। समारोह में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल मुख्य अतिथि होंगी।

-गौरतलब है कि भारत में शिक्षक दिवस भूतपूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिन 5 सितंबर को मनाया जाता है। इस दिन शिक्षकों को उत्कृष्ठ कार्य करने पर सम्मानित करने की भी परम्परा है। शिक्षकों के सम्मान का कार्यक्रम जिले स्तर से शुरू होकर राष्ट्रीय स्तर तक होता है। इसी क्रम में इस बार मध्य प्रदेश सरकार ने प्रदेश के 41 शिक्षकों को श्रेष्ठता की कसौटी पर खरा माना है। इन शिक्षकों में दतिया जिले के शासकीय माध्यमिक शाला उरदना के शिक्षक भानुप्रताप गोस्वामी का राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान 2018 के लिये चयन हुआ है।

-भानु गोस्वामी ने अपने विद्यालय को स्वच्छता और पर्यावरण की दृष्टि से अग्रणी बनाया है। विद्यालय में तैयार किया गया गार्डन प्रदेश भर के स्कूलों के लिए एक मिसाल है।
भानु गोस्वामी के चयन पर प्रभारी प्राचार्य श्रीमती मोनिका मिश्रा, नीलम त्रिपाठी, रविन्द्र श्रीवास्तव, गजेन्द्र शाक्य, नीलम शर्मा, ब्रजबिहारी मिश्रा, बाबूलाल कुशबाह,माखनसिंह दानौरिया, मनोज तिबारी, हरगोविन्द वंशकार, बाबूलाल महते, महेश लोधी, रामजीलाल जाटव, रविन्द्र लोधी, पुरषोत्तम गुप्ता, रामप्रकाश शर्मा, राकेश गुप्ता, बद्री प्रसाद गप्ता, जे बी आर लकडा, गोपाल राय, रामअवतार दोहरे, गिरवर सिंह लोधी, कामता प्रसाद कोरी आदि सभी शिक्षकों ने बधाई दी है।

इन शिक्षकों का होगा सम्मान

अलीराजपुर से छित्तू बामनिया, अनूपपुर सुश्री अंजली सिंह, बालाघाट सुश्री अंजली असाटकर, भिंड सत्यनारायण चतुर्वेदी, भोपाल श्रीमति बंदना मिश्रा, छिंदवाड़ा अभलाषा भांगर, दमोह रामस्वरूप चौरसिया, दतिया भानुप्रताप गोस्वामी, देवास सुभाष चौधरी, धार इंद्र सिंह राठौर, गुना अनिल भार्गव, गवालियर डा. दीप्ति गौर, हरदा दुर्गेश नंदन व्यास, इंदौर विजया शर्मा, जबलपुर सुधा उपाध्याय, झाबुआ लोकेन्द्र सिंह चौहान, सागर से अशोक कुमार पांडे, सीहोर सुश्री करुणा भार्गव व शाजापुर रजनीश कुमार त्रिवेदी को शिक्षक दिवस पर सम्मानित किया जाएगा।

दुनियाभर में है शिक्षक दिवस का महत्व
अलग-अलग देशों में शिक्षक दिवस अलग-अलग तारीखों पर मनाये जाते हैं। भारत में यह भूतपूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिन 5 सितंबर को मनाया जाता है।
-चीन में 1931 में शिक्षक दिवस की शुरूआत की गई थी और बाद में 1939 में कन्फ्यूशियस के जन्म दिन, 27 अगस्त को शिक्षक दिवस घोषित किया गया लेकिन 1951 में इसे रद कर दिया गया।

फिर 1985 में 10 सितम्बर को शिक्षक दिवस घोषित किया गया लेकिन वर्तमान समय में ज्यादातर चीनी नागरिक चाहते हैं कि कन्फ्यूशियस का जन्म दिन ही शिक्षक दिवस हो।
इसी तरह रूस में 1965 से 1994 तक अक्टूबर महीने के पहले रविवार के दिन शिक्षक दिवस मनाया जाता था। जब साल 1994 से विश्व शिक्षक दिवस 5 अक्टूबर को मनाया जाना शुरू हुआ तब इसके साथ समन्वय बिठाने के लिये इसे इसी दिन मनाया जाने लगा।

LEAVE A REPLY