मेरठ से नहीं, झांसी से शुरू हुई थी अंग्रेजों के खिलाफ 1857...

मेरठ से नहीं, झांसी से शुरू हुई थी अंग्रेजों के खिलाफ 1857 की पहली क्रांति, जानिए क्या हैं ऐतिहासिक तथ्य

0

@रामनरेश यादव
झांसी। अंग्रेजों के जुल्म के खिलाफ पहला बिगुल मेरठ से नहीं, बल्कि झांसी से बजा था। इतिहासिक तथ्यों को खंगालने के बाद जो सबूत मिलते हैं उससे यही साबित होता है। मेरठ में अंग्रेजों के खिलाफ सैन्य तुकड़ी ने विद्रोह किया था, लेकिन देश की आजादी के लिए अंग्रेजों को खदेडऩे का बिगुल 4 जून 1857 को झांसी में फूंका गया। इसके बाद पूरे देश में अंग्रेजों के खिलाफ माहौल तैयार होने लगा।

स्वतंत्रता दिवस की वर्षी के पहले बुन्देलखण्ड खबर के वीडियो चैनल बुन्देलखण्ड टीवी के लिए मुम्बई से झांसी आकर फिल्म अभिनेता आरिफ शहडोली ने पत्रकार बनकर प्रसिद्ध इतिहासकार और महारानी लक्ष्मीबाई के सबसे करीबी सैनिक अब्दुल्ला खां के परपोते वसीम खान से बात की।

उन्होंने इतिहास का गहन अध्ययन किया और उसी पड़ताल में इनका दावा है कि 1857 की क्रांति का आगाज़ मेरठ से नहीं, बल्कि बुंदेलखंड से हुआ था. मेरठ में तो सिर्फ सैनिक विद्रोह हुआ था. आज़ादी की असल लड़ाई की साक्षी तो बुंदेलखंड भूमि ही बनी. झांसी की जमीन अंग्रेजों की खिलाफत का सबसे पहला स्थान थी।

वसीम खान कहते हैं कि यह देश का दुर्भाग्य ही है कि इतिहास में कुछ कहानी किवदंतियों ने जगह बना ली। ऐतिहासिक तथ्य यह है कि 1857 की क्रांति की शुरूआत मेरठ से नहीं बल्कि झांसी से शुरू हुई थी। इसके पर्याप्त दस्तावेज मौजूद हैं। बंगाल के बैरकपुर से जो क्रांति हुई वह चर्वी वाले कारतूस के खिलाफ थी। इसके बाद ही मेरठ में सैनिक विद्रोह हो गया। ये विद्रोह चार मई को हुआ।

वहां से सैनिकों ने निकलकर बहादुर शाह जफर को गद्दी से हटाकर उन्हें बादशाह की गद्दी से हटाकर सिर्फ एक राजा बना दिया गया था। उनकी बाद में 12 मई 1857 को दोबारा ताजपोशी कर दी जाती है। इसके चार महीने बाद सितंबर में ही अंग्रेज दिल्ली पर कब्जा कर लेते हैं और बहादुर शाह जफर को हटा दिया जाता है।

इसके बाद 4 जून 1857 को झांसी में अंग्रेजों के खिलाफ विगुल फूंक दिया गया। यहां से पूरे देश में अंगे्रजों के खिलाफ आवाज उठने लगती है। इस बात की तस्दीक खुद ब्रिटिश लेखकों ने अपनी किताबों में की है।

देखिये  पूरा इंटरव्यू यूट्यूब चैनल बुन्देलखण्ड टीवी पर सीधे अभिनेता आरिफ शहडोली के साथ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

%d bloggers like this: