जाट आंदोलन: 20 मार्च को दिल्ली कूच की तैयारी, हरियाणा में धारा-144 लागू, इंटरनेट सेवाएं रद्द

0

चंडीगढ़. जाट आंदोलन की अगुवाई कर रही अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के दिल्ली कूच के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी गई है। पुलिस और अर्धसैनिक बलों को जरूरत के मुताबिक तैनात कर दिया गया है। इधर, जिलों ने भी अपने स्तर पर एहतियाती कदम उठा लिए हैं। कुछ जिला प्रशासनों ने जहां अपने जिलों में धारा 144 लागू कर दी है वहीं शराब की बिक्री पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। इसके अलावा पेट्रोल पंपों को भी ट्रैक्टर ट्रॉलियों को तेल देने के मामले में भी हिदायतें जारी कर दी गई हैं। पूरे मामले पर हरियाणा सरकार पैनी निगाह बनाए हुए है। जिला प्रशासनों ने बीते दिन प्रदेश के होम डिपार्टमेंट और राज्य पुलिस प्रमुख की विडियो कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग के तुरंत बाद अपने कदम उठा लिए थे। इधर, सूचनाएं हैं कि हरियाणा सरकार विज्ञापनों के जरिए भी लोगों को प्रदेश में कानून-व्यवस्था बनाए रखने की अपील करने की रणनीति पर चल रही है।

जहां तक जिलों की तैयारी की बात है तो पिछले साल के आंदोलन से बुरी तरह झुलसे इलाकों के प्रशासनों ने सबक लेते हुए कानून व्यवस्था पर पूरी लगाम बनाए रखने के लिए दौड़भाग तेज कर दी है। रोहतक के जिलाधिकारी अतुल कुमार ने इलाके में धारा 144 लागू करते हुए रेलवे लाइन के करीब पांच या अधिक लोगों के बैठने और स्टेट और नैशनल हाईवे पर पांच या अधिक व्यक्तियों के ट्रैक्टर-ट्रॉलियों पर सवार होने पर प्रतिबंध लगा दिया है। ये आदेश तुरंत प्रभाव से लागू हो गए हैं। इसके अलावा ऐसे ट्रैक्टर-ट्रॉलियों जिसमें खाने का सामान, लाठी डंडे, तलवार और गंडासी आदि हो, को भी स्टेट और नैशनल हाईवे से गुजरना प्रतिबंधित रहेगा। इसके अलावा सड़कों के आसपास तंबू लगाने पर भी प्रतिबंध रहेगा। जिलाधिकारी ने सभी पेट्रोल पंपों के मालिकों को भी हिदायतें दी है कि पंप मालिक 20 मार्च तक किसी भी ट्रैक्टर ट्रॉली में 10 लीटर से ज्यादा तेल नहीं डाले। साथ ही सभी पेट्रोल पंपों को ट्रैक्टर-ट्रॉली में तेल डलवाने वाले चालक का नाम, वाहन का पंजीकरण नंबर और वाहन में सवार व्यक्तियों की संख्या इत्यादि का ब्यौरा रजिस्ट्री में दर्ज करना होगा।

झज्जर के जिलाधिकारी रमेश चंद्र बिढ़ाण ने भी जाट आरक्षण संघर्ष समिति की ओर से 20 मार्च को संसद घेराव को देखते हुए जिले में सरकारी और गैर-सरकारी संपत्ति की सुरक्षा, सामाजिक सौहार्द बनाए रखने, जान-माल की हानि रोकने और कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए 21 मार्च तक के आदेश जारी कर दिए हैं। इनके अनुसार रेलवे ट्रैक, स्टेशन, राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों, संपर्क मार्गों के 500 मीटर के दायरे में पांच या पांच से अधिक लोगों के जमा होने, हथियार, लाठी, बरछी, जेली और गंडासे सरीखे नुकीले हथियारों को लेकर चलने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।

जिलाधिकारी ने सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाहों को रोकने के लिए जिले की सीमाओं में मोबाइल फोन पर उपलब्ध होने वाली इंटरनेट सेवाएं 2जी, 3जी, 4जी, जीपीआरएस और बल्क एसएमएस सेवाओं पर भी पाबंदी लगा दी है। इसके अलावा जिले में सभी शराब की दुकानें 21 मार्च को सुबह 9 बजे तक बंद रखने को कहा गया है। जिले के सभी गांवों में ठीकरी पहरा लगाने के आदेश दे दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY