बूंद -बूंद पानी के लिए तरसे मऊरानीपुर के लोग, दो साल से नहीं हुई टैंक की सफाई

0
  • हर तरफ फैली है गंदगी, मैले पानी पर लोगों में रोष 

@कुलदीप रावत 

मऊरानीपुर (झाँसी)। नगर मऊरानीपुर में जल संकट काफी गहराता जा रहा है। जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पडता है। नल के न आने से लोगों को जल का संकट काफी देखा जा रहा है। यह स्थिति एक माह होने को जा रही है। जब से लोगों को पानी को पीने के लिये पानी को तरसना पड रहा है। कारण कि नलों को न दिये जाने से काफी परेशानी नगरवासियों को महसूस करनी पड रही है। इसी के चलते नगर विकास समिति अध्यक्ष जयप्रकाश साहू ने जल विभाग की खामियों को उजागर किया है।

उनका कहना है कि जहाँ मोदी और योगी सरकार स्वस्थ रहने के लिये कई योजनायें चला रही है। जिस पर करोडों रुपये खर्च कर रही है, और वही दूसरी ओर जल विभाग की कार्यप्रणाली योजनाओं को बेकार साबित कर रही है। अधिकारी सरकार के आदेशों एवं नियमों का खुलेआम खिलवाड करने में लगे हुये है, और नियमों की धज्जियाँ उडाते हुये देखे जा रहे है।mau watter suply

  • जिसमें देखा गया कि जहाँ से सपरार बाँध से पानी आता है। वहाँ पर काफी गन्दगी पडी हुयी देखी जा रही है। इतना ही नही जहाँ पर पानी फिल्टर होता है। वहाँ पर टैंक की गहराई 25 से 30 फुट लगभग गहराई होने के बाद भी गन्दगी चरम सीमा पर देखी जा रही है। इसमें केवल 2 फुट पानी ही ऊपर देखा जा रहा है। बाकी शेष गन्दगी में लिप्त बना हुआ है।

वही बोर्ड पर लिखा हुआ है कि 2016 में सफाई की गई है। इसके बाद भी हालत गम्भीर की गम्भीर देखी जा रही है। इसका मतलब लोगों को समझ में नहीं आ रहा है कि आखिर में सफाई इस तरह से क्यों की गयी कि सफाई, सफाई ही रह गयी। इसे देखने से तो नगर विकास समिति अध्यक्ष ने बताया कि जैसे 10 वर्षो से सफाई न की गयी हो। जो कागजों में ही सफाई की जा चुकी हो। जहाँ पर हमारे घरों मे ंसप्लाई की जाती है। वहाँ भी गन्दगी का अम्बार देखा जा रहा है।

  • नगर के कई मुहल्लों जैसे गाँधीगंज जैसे मुहल्लो ंमें एक माह होने जा रहा है जिसमें पानी नही आ रहा है। इसके बाद भी इस ओर किसी का ध्यान आकृष्ट नही हो रहा है। जिसमें पानी की सप्लाई पूर्ण रुप से बन्द पडी हुयी है। वही यदि पानी आता है तो पूर्ण रुप से गन्दगी युक्त आता है। वही फिल्टर हाउस की दशा जिसमें कई जानवर घुसे हुये है और बाहर से भी देखने में जर्जर स्थिति में बना हुआ है। इस प्रकार की गहन समस्या के सम्बन्ध में उच्चाधिकारियों का ध्यान गम्भीरता से आकृष्ट कराया गया है।

LEAVE A REPLY