मैं निकम्मी सांसद, मेरी गलतियां माफ की जाएं: उमा भारती

मैं निकम्मी सांसद, मेरी गलतियां माफ की जाएं: उमा भारती

0

झांसी. मैं सबसे निकम्मी सांसद हूं.मेरी गलतियां माफ की जाएं. झांसी ललितपुर की जनता ने उन पर अहसान किया है. यह मेरी आखिरी सभा है, अब मैं जानता के बीच वोट मांगने पहुंचूंगी. यह बात केंद्रीय मंत्री और झांसी की सांसद उमा भारती ने झांसी में एक सभा के दौरान कही. केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी की मौजूदगी में आयोजित सभा के दौरान उमा भारती ने खुद को निकम्मा कहकर और वोट मांगने आने की बात कहकर एक तरह से झांसी से एक बार फिर चुनाव लडने के साफ संकेत दे दिए हैं .

उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि उनकी गलतियां माफ की जायें और वह उनकी एहसान मानती हैं।

झांसी के क्राफ्ट मेला मेदान में केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने सभा को सम्बोधित किया। जिसमें उन्होंने कहा कि आतंकी घटना के बाद पूरे देश में ऐसा माहौल बन गया कि ऐसा लगता था कि अब कोई कार्यक्रम नहीं कर सकते है लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि एक भी सरकारी कार्य निरस्त नहीं होगें। हालांकि मनोरंजन वाले कार्यक्रम निरस्त कर दिये जायेगें।

वह विश्व को बतायेंगे कि भारत की गति को कोई रोक नहीं सकता है। उमा भारती ने कहा कि रात्रि में बारिश हुई जिससे एक फसल को छोड़कर सभी को नुकसान है। उस नुकसान का आकलन अब ठीक प्रकार से होगा और झांसी-ललितपुर संसदीय क्षेत्र के किसानों को फसल बीमा का लाभ मिलेगा।

इसके अलावा उमा भारती ने कहा कि वह आठ साल की थी तभी से झांसी में उनके प्रवचन चले हैं। इसलिए उन्हें अधिक नहीं बोलना है। जनता ने झांसी-ललितपुर की जनता उन्हें सांसद बना दिया। 2 लाख बोटों से जिताकर केन्द्र में भेज दिया। इसके बाद भी वह यहां सबसे बड़ी निकम्मी सांसद साबित हुईं हैं। जिस प्रकार जनता से उन्हें सम्पर्क करना चाहिए था उस प्रकार उन्होंने सम्पर्क नहीं किया है।

इसके बाद जनता की उन पर काफी कृपा है। जनता के इस कृपा को बोझ जब जिंदा रहेगी वह हमेशा उतारती रहेंगी। वह झांसी-ललितपुर संसदीय क्षेत्र की जनता का एहसान मानती हैं। उमा भारती ने कहा कि यह उनकी आखरी सभा है, अब वह जनता की बीच वोट मांगने आयेंगी। वह जनता से अपील करना चाहती है कि उनके अवगुण हो भुला देना।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

%d bloggers like this: