महोबा।  एक माह पूर्व घर के बाहर बैठे युवक को गांव के ही चार दबंगों ने गोली मार दी थी जिसमे युवक की जान तो बच गई लेकिन वह गंभीर रूप से घायल हो गया और आज भी अपाहिज भरी जिंदगी जीने के लिए मजबूर है।  इस मामले में पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जबकि अभी भी दो आरोपी फरार है और पीड़ित पर राजीनामे का दबाब बनाकर जान से मारने की धमकी दें रहे है. पीड़ित ने आज पुलिस अधीक्षक से इंसाफ की गुहार लगाई है और दो आरोपियों की गिरफ़्तारी की मांग की है.

महोबा जनपद के थाना पनवाड़ी के ग्राम स्योढ़ी में एक माह पूर्व 8 दिसंबर 2016 को दिनदहाड़े शैलेन्द्र यादव को गांव में ही रहने वाले चार दबंगों जीतेन्द्र यादव उसके भाई जयहिंद, भूरा यादव और प्राण सिंह ने पुरानी रंजिश के चलते गोली मार दी. दरअसल शैलेन्द्र अपने घर के बाहर बैठा था तभी ये चारों दबंग पहुंचे और युवक पर तमंचे से ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी और फायरिंग की आवाज सुनकर जब आस पास के लोग घटना स्थल पर दौड़े तो आरोपी फरार हो गए. घायल शैलेन्द्र को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया. पीड़ित की जान तो बच गई मगर वो अभी भी अपाहिज भरी जिंदगी जीने के लिए मजबूर है. पुलिस ने इस मामले में सभी के खिलाफ धारा 307,504 और 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर दो आरोपियों जीतेन्द्र और जयहिंद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया मगर पुलिस की गिरफ्त से बाहर दो आरोपी आज भी पीड़ित को जान से मारने की धमकी दें रहे है और पुरे मामले में राजीनामा करने का दबाब बना रहे है. पीड़ित ने अपने परिवार के साथ पहुंचकर पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह से इन्साफ की गुहार लगाई है पीड़ित ने एसपी से अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की है. पीड़ित को डर है कही अब आरोपी उसकी अपाहिज जिंदगी को हमेशा के लिए खामोश न कर दें.
इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक राजेश सक्सेना ने कहा कि एक माह पूर्व की ये घटना है. इसमें विवेचक ने अपनी जाँच में दो अन्य आरोपियों को शामिल नहीं पाया था, लेकिन पीड़ित की मांग पर मामले की फिर से जाँच की जा रही है. अगर दोषी पाए गए तो निश्चित ही कार्रवाई होगी.

LEAVE A REPLY