लॉक डाउन में भी किसानों की समस्या लेकर लखनऊ पहुंचे गरौठा विधायक

लॉक डाउन में भी किसानों की समस्या लेकर लखनऊ पहुंचे गरौठा विधायक

0
  • फसल बीमा से वंचित किसानों की बात गरौठा विधायक जवाहर लाल राजपूत ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक पहुंचाई है।
  • प्रीमियम राशि काट ली गई थी, लेकिन इसके बाद भी बीमा क्षतिपूर्ति राशि से कई किसान वंचित रह गए थे। विधायक ने इसकी जांच कराने की मांग उठाई है।

Varsha Raikwar

झांसी। झांसी जिले में खरीफ की फसल को हुए नुकसान की क्षतिपूर्ति 2019-20 को जारी तो कर दिया गया है, लेकिन अभी भी इससे कुछ किसान वंचित रह गए हैं। जिले के किसानों के खातों में 198 करोड़ 25 लाख रुपए क्षतिपूर्ति धनराशि पहुंचा दी गई है। जबकि कई ऐसे किसान भी हैं जिनकी बीमा प्रीमियम राशि काटी गई है और उन्हें अब तक फसल बीमा क्षतिपूर्ति नहीं दी गई। इसी को लेकर गरौठा विधायक जवाहर लाल राजपूत ने लखनऊ पहुंचकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र प्रेषित किया है। इसमें उन किसानों की समस्या को रखा है जो फसल बीमा के लाभ से वंचित हैं।
विधायक जवाहर लाल राजपूत ने आज लखनऊ पहुंचकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम संबोधित एक पत्र उनके प्रमुख सचिव एसपी गोयल को सौंपा है। इसके साथ ही उन्होंने वहां प्रमुख सचिव और कृषि उत्पादन आयुक्त से भी मुलाकात की। इस दौरान विधायक ने गरौठा विधानसभा के उन किसानों की समस्या से मुख्यमंत्री और संबंधित अधिकारियों को अवगत कराया जो खरीफ की फसल पर जारी की गई बीमा क्षतिपूर्ति से वंचित रह गए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दिए पत्र में विधायक राजपूत ने कहा है कि झांसी जिले के 1 लाख 22 हजार 629 किसानों के खातों में 198 करोड़ 25 लाख 39 हजार 446 रुपए की क्षतिपूर्ति धनराशि पहुंचाई गई है। यहां खरीफ की फसल में बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ था, जिससे यहां किसानों को भारी क्षति पहुंची थी। पहले कम बारिश और फिर बेमौसम भारी बारिश से यहां मक्का, मूंग, ज्वार, सोयाबीन, धान, उर्द, मूंगफली व तिल की फसल तबाह हो गई थी। किसानों को जो फसल बीमा के तहत क्षतिपूर्ति राशि जारी की गई है उसमें कई किसान वंचित रह गए हैं। इनमें कई ऐसे किसान भी हैं जिनकी बीमा प्रीमियत राशि काटी गई, लेकिन उनको खरीफ नुकसान पर फसल बीमा का लाभ अभी तक नहीं मिल सका है।

मुख्यमंत्री को दिए पत्र में विधायक जवाहर लाल राजपूत ने कहा है कि गरौठा विधानसभा क्षेत्र के हजारों किसान बैंक के चक्कर लगा रहे हैं। उनके खातों में क्षतिपूर्ति नहीं पहुंची है। इसलिए जिन किसानों की प्रीमियम राशि काटी गई है। उसमें या तो बैंक द्वारा गलती की गई है या फिर बीमा कंपनी ने क्षतिपूर्ति जारी करने में कुछ किसानों को छोड़ दिया है। इससे कई किसान फसल बीमा योजना के लाभ से वंचित रह गए। इसकी जांच कराई जांच कराई जाकर वंचित किसानों को उनका हक मिलना जरूरी है।

विधायक राजपूत ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रमुख सचिव के साथ कृषि उत्पादन आयुक्त और प्रमुख सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी से भी मुलाकात की और किसानों को खरीफ फसल में हुए नुकसान पर बीमा क्षतिपूर्ति नहीं मिलने पर लिखत जानकारी दी। विधायक राजपूत ने कहा है कि किसी भी किसान जिसका फसल बीमा प्रीमियम काटा गया है उसे वंचित नहीं रहने दिया जाएगा।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY