मध्य प्रदेश में हो रही ओछी राजनीति, सिंधिया को धमकी के बाद...

मध्य प्रदेश में हो रही ओछी राजनीति, सिंधिया को धमकी के बाद सीएम पर उछली चप्पल

0

बुंदेलखंड खबर –

भोपाल। मध्य प्रदेश में सत्ता की बिसात ओछी और नफरत की राजनीति के साथ बिछ रही है। चुरहट में सीएम शिवराज सिंह के ऊपर चप्पल फेंकी गई है। चप्पल फेंके जाने के फौरन बाद उनको सुरक्षा घेरे में ले लिया गया। वहीं, बीजेपी विधायक के बेटे ने कांग्रेस चुनाव कैंपेनिंग कमेटी के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया को धमकाया है। यह धमकी उन्होंने फेसबुक प्लेटफार्म का इस्तेमाल करते हुए दी है। इसके बाद कांग्रेस ने भाजपा पर जुबानी हमला बोला है। दोनों ही तरफ से आरोप प्रत्यारोप शुरू हो गए हैं।

हटा विधायक उमा देवी के पुत्र प्रिंसदीप ने दी धमकी
एक तरफ सीएम शिवराज के रथ पर पथराव का मामला तूल पकड़े है तो दूसरी ओर भाजपा की दमोह जिले के हटा से विधायक उमा देवी खटीक के बेटे प्रिंसदीप लालचंद खटीक ने कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को ‘जान से मारने’ की धमकी दे डाली है. खटीक ने फेसबुक पर लिखा है, ‘सुन ज्योतिरादित्य! तेरी रगों में जीवाजी राव का खून है, जिसने बुंदेलखंड की बेटी झांसी की रानी का खून किया था, अगर उपकाशी हटा में प्रवेश कर इस धरती को अपवित्र करने की कोशिश की, तो गोली मार दूंगा. लहारी में ही या तो मेरी मौत होगी या तेरी.’

शिवराज के ऊपर उछाली चप्पल
बता दें कि रविवार रात सीधी जिले के चुरहट विधानसभा क्षेत्र में सीएम शिवराज चौहान के रथ पर पथराव किया गया. राज्य के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने इसे ‘हत्या की साजिश’ बता डाला. रथ पर हमला रात साढ़े नौ बजे होता है और गृहमंत्री लगभग 15 घंटे बाद ऐलान कर देते हैं कि यह हत्या की साजिश थी. गृहमंत्री को इस बात का खुलासा भी करना चाहिए कि उनके पास यह इनपुट किस एजेंसी के जरिए आया.

चुरहट के विधायक और विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह का सीधा आरोप है कि यह कांग्रेस नेताओं को फंसाने की बीजेपी द्वारा रची गई साजिश और सहानुभूति बटोरने की चाल है. सिंह ने सवाल किया कि सीएम के रथ पर पथराव गुप्तचर एजेंसी की असफलता है और गृहमंत्री को इस्तीफा देना चाहिए.

समाज में जहर घुला तो मुश्किल होगी
बता दें कि इससे हटकर राज्य के लगभग हर हिस्से में संसद द्वारा एससी-एसटी एक्ट में किए गए संशोधन का चौतरफा विरोध हो रहा है. इससे समाज के सवर्ण व आरक्षित वर्ग में तनाव की स्थितियां बन रही हैं. राजनीतिक विश्लेषक अरविंद मिश्रा कहते हैं, ‘राज्य में सत्ता और विपक्ष में कभी भी इस तरह के हालात नहीं बने.

यह सब जान रहे हैं कि चुरहट के पथराव को मुख्यमंत्री की हत्या की साजिश बताने के पीछे की मंशा क्या है. नेताओं का नजरिया टकराव पैदा करने वाला है तो कार्यकर्ता किस हद तक जाएंगे, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है. सत्ता आती-जाती रहेगी, मगर समाज में जहर घुल गया तो शांति और भाईचारा लाना आसान नहीं होगा.

एजेंसी

 

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

%d bloggers like this: