शिवसेना के साथ TDP भी BJP को तलाक देने को तैयार, चंद्रबाबू नायडू बोले मित्र धर्म नहीं निभाती भाजपा

0

नई दिल्ली (एजेंसी). शिवसेना के बाद अब टीडीपी भी बीजेपी को तलाक देने को तैयार है. उद्धव ठाकरे के बाद चंद्रबाबू नायडू ने भी इसके संकेत दे दिए. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्राबाबू नायडू ने कहा है कि अगर बीजेपी उनका साथ नहीं चाहती तो उन्हें भी उसे नमस्कार करने यानी अलायंस खत्म करने से कोई गुरेज नहीं होगा। बीजेपी मित्र धर्म नहीं निभाती. नायडू का यह बयान बीजेपी के स्टेट लीडर्स द्वारा उनकी सरकार की कई मुद्दों पर आलोचना करने के बाद आया है। बता दें कि नायडू की तेलगुदेशम पार्टी एनडीए का हिस्सा है। राज्य में भी बीजेपी और टीडीपी साथ हैं, लेकिन दोनों के बीच तल्खी साफ़ दिखने लगी है.

क्या बोले नायडू

एक कार्यक्रम के दौरान शनिवार को एक बयान में नायडू ने आंध्र प्रदेश बीजेपी के कुछ नेताओं द्वारा उनकी सरकार के खिलाफ लगातार की जा रही बयानबाजी पर सख्त नाराजगी जाहिर की। नायडू ने साफ कर दिया कि अगर बीजेपी नहीं चाहती तो वो अलायंस खत्म करने के लिए तैयार हैं।  नायडू ने कहा- दोनों ही पार्टियों को गठबंधन धर्म का पालन करना चाहिए। क्योंकि गठबंधन धर्म निभाने की वजह से ही हम अब तक चुप रहे हैं। उन्होंने आगे कहा- अगर वो हमें नहीं चाहते तो कोई बात नहीं। हम भी उन्हें नमस्कार करके अपना रास्ता खुद तलाश कर लेंगे। केंद्र में टीडीपी एनडीए का हिस्सा है।

 

YSR कांग्रेस के साथ बढ़ रहीं बीजेपी की नजदीकियां

वहीं, राज्य में बीजेपी और टीडीपी मिलकर सरकार चला रहे हैं।
– बीजेपी के स्टेट लीडर्स कई मुद्दों पर टीडीपी का विरोध करते रहे हैं। कुछ बीजेपी नेताओं ने तो यहां तक संकेत दिए हैं कि वो अपोजिशन पार्टी YSR कांग्रेस के साथ जाने को तैयार हैं।
– कुछ दिनों पहले YSR कांग्रेस के चीफ जगमोहन रेड्डी ने कहा था कि अगर बीजेपी आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेटस देती है तो वो उसको सपोर्ट करने को तैयार हैं।

शिवसेना हो चुकी है अलग

– शिवसेना ने 23 जनवरी को बड़ा एलान किया था। पार्टी नेता और सांसद संजय राउत ने कहा था कि 2019 में होने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनाव में शिवसेना NDA के साथ नहीं बल्कि अकेले चुनाव लड़ेगी। बीते कुछ महीनों से बीजेपी और शिवसेना के बीच तनाव की खबरें आ रही थीं। नोटबंदी को लेकर भी शिवसेना ने मोदी सरकार का विरोध किया था।

LEAVE A REPLY