महंगा पड़ा आरोपियों को बचाना, थाना प्रभारी समेत नौ पर हत्या का...

महंगा पड़ा आरोपियों को बचाना, थाना प्रभारी समेत नौ पर हत्या का केस

0
प्रतीकात्मक फोटो

राहुल श्रोती-
मड़ावरा(ललितपुर)। एक महिला अपनी बेटी के गायब होने के बाद ससुरालीजनों के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज कराने दर दर भटक रही थी, लेकिन थाना सौजना पुलिस ने उसकी पूरी कहानी को ही उलट दिया। जिस पति पर पत्नी को मार देने का आरोप था उसी से प्रार्थनापत्र लेकर पुलिस ने उसके प्रेमी के साथ भाग जाने का मुकदमा दर्ज कर लिया। लेकिन, उसकी मां ने हार नहीं मानी। न्यायालय के आदेश पर तत्कालीन थाना प्रभारी मड़ावरा समेत नौ आरोपियों पर हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

थाना सौजना अंतर्गत ग्राम खटौरा निवासी लाडक़ुंवर पत्नी अनन्दी ने न्यायालय में दिए अपने प्रार्थना पत्र में बताया कि उसकी पुत्री चंदा का विवाह थाना मड़ावरा के गांव पिपरट निवासी अंगद के साथ हुआ था। ससुरालीजन दहेज के लिए आये दिन उसकी पुत्री के साथ गालीगलौज और मारपीट किया करते हैं। वादिनी का आरोप है कि ससुरालीजनों द्वारा षड्यंत्रपूर्वक उसकी पुत्री चंदा की हत्या कर दी और उनके षड्यंत्र में तत्कालीन थानाध्यक्ष मड़ावरा द्वारा कानून का दुरुपयोग करते हुऐ आरोपियों की मदद की गई।
तथाकथित मृतका चंदा की माँ के प्रार्थना पत्र के आधार पर न्यायालय के आदेश पर मड़ावरा पुलिस द्वारा तत्कालीन थानाप्रभारी वीरेन्द्र सिंह समेत हल्कू पुत्र रगवीर, अजमेर पुत्र रगवीर, रगवीर पुत्र हरगुमान, नेमरानी पत्नी रगवीर, रामदेवी पत्नी अजमेर निवासीगण पिपरट, महेंद्र पुत्र हीरा निवासी क्योलारी, गोविंद पुत्र अज्ञात निवासी बरखेरा थाना बहरोल, मंगल पुत्र नामालूम निवासी ग्राम साढूमल के खिलाफ 302, 511, 489ए, 323, 504, 506, 161, 166ए, 120बी एवं 3/4 दहेज प्रतिषेध अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

अब तक बरामद नहीं हुई चंदा
जिस चंदा की हत्या के आसपास पूरा मामला घूम रहा है उसका आजतक कोई सुराग नहीं लग सका है। आरोपियों के ऊपर हत्या का मामला भले ही दर्ज किया गया हो लेकिन अभी तक कोई शव भी बरामद नहीं हुआ।

पति ने कराया था भगा ले जाने का मामला
चंदा पत्नी अंगद जिसकी हत्या का मुकदमा तत्कालीन थाना प्रभारी समेत 9 लोगों के खिलाफ पंजीकृत किया गया है उसके पति अंगद ने बीते 22 जून को हाकिम पुत्र रुपसिंह लोधी निवासी सौजना के खिलाफ आशनाई के चलते अपनी पत्नी चंदा को भगा ले जाने का आरोप लगाते हुये मड़ावरा थाने में प्रकरण दर्ज कराया गया था।

पति को नहीं बनाया गया आरोपी
पूरे प्रकरण में एक बात बड़ी अचरज भरी रही कि चंदा की माँ द्वारा न्यायालय में दिये गए दहेज के लिये उसकी पुत्री के उत्पीडऩ आदि के बावत प्रार्थना पत्र में थानेदार समेत नौ लोगों को आरोपी बनाया गया लेकिन चंदा के पति अंगद के खिलाफ कोई आरोप नहीं लगाया गया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

%d bloggers like this: