70 हजार करोड़ से संवरेगा बुन्देलखण्ड, गडक़री ने दिया उमा भारती को श्रेय

0

 

झांसी। केन्द्रीय मंत्री नितिन गढक़री ने झांसी पहुंचकर हजारों करोड़ की
योजनाओं का शिलान्यास किया है। इसमें कई योजनाएं ऐसी हैं जो बुन्देलखण्ड
के पिछड़ेपन के लिहाज से गेम चेंजर साबित होंगीं और इन सभी योजनाओं का
श्रेय उन्होंने सीधे तौर पर झांसी सांसद और केन्द्र सरकार मंत्रिमंडल में
उनकी सहयोगी उमा भारती को दिया है।


नितिन गडक़री ने साफ कहा कि बीस हजार करोड़ का डिफेंस कॉरिडोर और नौ हजार
करोड़ की पेयजल योजनाओं को उमा भारती ही खींचकर बुन्देलखण्ड में लाईं
हैं। इसके साथ ही पूरे बुन्देलखण्ड में 606 किलोमीटर की फोरलेन सडक़ें और
केन बेतवा परियोजन पूरे बुन्देलखण्ड को स्वर्ग बनाने का काम करेंगी।
नितिन गडक़री ने योजनाएं गिनाते हुए कहा कि, बुन्देलखण्ड को जोडऩे वाला
606 किलोमीटर फोरलेन सडक़ का निर्माण काराया जा रहा है जिस पर दस हजार
करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। उमा भारती के कारण ही नौ हजार करोड़ की
पेयजल योजना आई और उन्हीं के कारण डिफेंस कॉरिडोर आया।


उन्होंने कहा कि केन वेतवा उमा भारती का ड्रीम प्रोजेक्ट है। वह जब मध्य
प्रदेश की सीएम थी तब उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मुलायम सिंह
यादव से इसको लेकर मंत्रणा की थी। वाटर रिसोर्स की मंत्री बनने के बाद
उमा जी ने काफी प्रयास किया, लेकिन केन-वेतवा बड़ा प्रोजेक्ट था इसलिए
इसमें विलम्ब हो गया। अब यह विभाग हमारे पास है तो इसे मैं भी आगे बढ़ा
रहा हूं। इस योजना की खूबी यह है कि अब हम कैनाल नहीं बनाएंगे। पाईप लाइन
से किसान को सीधे पानी देंगे। उन्होंने कहा कि केन वेतवा बुन्देलखण्ड की
बड़ी योजना है। इस देश में पानी बहुत है पानी के नियोजन की कमी है। योगी
और कमलनाथ के साईन होने के बाद हम कभी भी साइन करने को तैयार हैं। 20
हजार करोड़ की इस योजना के लिए सभी प्रकार की अनुमति मिल गई हैं। इसमें
90 प्रतिशत पैसा केन्द्र सरकार दे रही है। यूपी और एमपी को सिर्फ दस
प्रतिशत ही देना है।

 वहीं, उमा भारती ने कहा कि वह जनता के बीच समय भले ही
कम दे पाईं हैं, लेकिन बुन्देलखण्ड के विकास के लिए न तो उन्होंने कोई
कसर छोड़ी है और न ही कोई कसर छोड़ी जाएगी।

सबसे तेज विकास का किया दावा
चौदह हजार छह सौ बयालीय किलो किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग। आजादी के बाद
सात हजार किलोमीटर ही बना था। इसके अलावा साढे चार साल में दोगुना किया।
इसके अलावा एडिसनल प्रिंसिपल राष्टीय महामार्ग तीन लाख पांच हजार तैयार
किया। उमा भारती के प्रयास से बुन्देलखण्ड को कई राजमार्ग दिए।
बुन्देलखण्ड में झांसी से खजुराहो तक 77 किलोमीटर 14 सौ दस करोड़ खर्चा
कर रहे। 35 प्रतिशत कार्य पूरा।  राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 75 झांसी
खजुराहो पैकेज 2 फोरलेन 85 किलोमीटर, तेरह सौ दस करोड़ रुपए। 25 प्रतिशत
कार्य पूरा। 20 में कार्य पूरा। झांसी गवालियर शेष कार्य चार सौ बत्तीस
करोड़ रुपए का कार्य पूरा किया जा रहा है। इसके अलावा कानपुर कबरई चार
लेने सडक़ निर्माण 130 किलोमीटर है। इसकी कीमत ढाई हजार करोड़ है। इसकी
डीपीआर तैयार और तीन महीने में टेंडर निकल जाएगा। कबरई सागर तक 280
किलोमीटर की सडक़ को तीन हजार करोड़ रुपए भी जारी कर दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY