देश के 50 शक्तिशाली लोगों में शुमार भास्कर समूह के मालिक रमेश अग्रवाल नहीं रहे, झाँसी से निकाला था पहला अखबार

0
 अहमदाबाद एजेंसी. दैनिक भास्कर समाचार पत्र को अपनी जन्म स्थली  झाँसी बुंदेलखंड से शुरू कर दुनियाभर में पहचान दिलाने वाले भास्कर समूह के चेयरमेन रमेशचंद्र अग्रवाल अब हमारे बीच नहीं रहे. बुधवार को सुबह 11 बजे अहमदाबाद में उनका हृदयाघात से निधन हो गया. वे 72 वर्ष के थे। श्री अग्रवाल अहमदाबाद से एक फ्लाइट में जा रहे थे जब उन्हें हार्ट अटैक हुआ। उनके पार्थिक शरीर को आज शाम भोपाल लाया जायेगा। श्री अग्रवाल का अंतिम संस्कार गुरूवार को भोपाल में किया जाएगा।
रमेशचंद्र अग्रवाल के निधन पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर दुख प्रकट किया। केंद्र सरकार के कई मंत्रियों ने ट्वीट कर उनके निधन पर अपनी संवेदना प्रकट की हैं. उन्होंने ट्वीट किया, ‘भास्कर समूह के चेयरमैन रमेश अग्रवाल जी के असामयिक निधन का समाचार अत्यंत दुखदायी है। वह संवेदनशीलता, त्वरित निर्णय हेतु याद किये जायेंगे।’
देश की 50 शक्तिशाली हस्तियों में है नाम
श्री अग्रवाल ने भोपाल विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान डिग्री प्राप्त की थी है। उन्हें पत्रकारिता में राजीव गांधी लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था। 2003, 2006 और 2007 में इंडिया टुडे द्वारा उन्हें भारत के 50 सबसे शक्तिशाली लोगों में शामिल किया गया था।
बुंदेलखंड के झाँसी से की थी अखबार की शुरुआत
रमेश अग्रवाल की जन्मभूमि झाँसी रही है. उन्होंने झाँसी से ही समाचार पत्र का पहला संस्करण प्रकाशित किया था. इसके बाद रमेश जी मध्यप्रदेश आ गए. उन्होंने मध्यप्रदेश में अखबार को स्थापित किया. इसके बाद मुड़कर नहीं देखा. आज भास्कर की दुनियाभर में धमक है. वह देश का सबसे बड़ा समाचार पत्र समूह है.

 

LEAVE A REPLY