एपी संपर्क क्रांति के जरिए झांसी के लोगों के संपर्क में आ...

एपी संपर्क क्रांति के जरिए झांसी के लोगों के संपर्क में आ गया कोराना वायरस

0

झांसी। कोरोना वायरस का खौफ देश में बढ़ता ही जा रही है। शहरों की जद से बुंदेलखंड की ग्रामीण वादियों तक कोरोना का साया पीछा नहीं छोड़ रहा। झांसी में जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कोरोना के शक में एक बच्चा समेत पांच लोगों को भर्ती किया गया। सभी के खून का सैम्पल लेकर केजीएमयू लखनऊ जांच के लिये भेजा गया। बताया जा रहा है कि ये सभी लोग एक ही परिवार के है और 13 मार्च को सम्पर्क क्रांति एक्सप्रेस के स्लीपर कोच एस-9 में नई दिल्ली से झांसी तक की यात्रा की थी, इसी कोच में यात्रा करने वाला एक शख्स कोरोना पॉजिटिव निकला, जिसका इलाज हैदराबाद में चल रहा है,

झांसी के सिविल लाइन निवासी एक ही परिवार के पांच लोगों को जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कोरोना के शक में भर्ती कराया गया है, 13 मार्च को नई दिल्ली से तिरुपति जाने वाली संपर्क क्रांति एक्सप्रेस से झांसी लौट रहे थे। यह परिवार ट्रेन के एस-9 स्लीपर कोच में सवार था और इसी कोच में सवार एक यात्री में तेलंगाना में कोरोना वायरस की पुष्टि होने के बाद तेलंगाना सरकार ने रेलवे को चि_ी लिखकर यात्री के साथ कोच में मौजूद यात्रियों का परीक्षण कराने को कहा था, इस पत्र के आधार पर रेलवे और झांसी जिला प्रशासन ने सिविल लाइन के रहने वाले 5 यात्रियों को शिनाख्त की। आइसोलेशन में रखे गए 5 लोगों में एक साल का एक बच्चा, 61 साल का एक बुजुर्ग और 3 महिलाएं शामिल हैं, जिन्हें जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है, मरीजों का सैंपल लेकर परीक्षण के लिये केजीएमयू लखनऊ भेजा गया, जिला अस्पताल के वरिष्ट फिजिशियन डॉ. डीएस गुप्ता ने बताया कि यह सूचना मिली थी कि हैदराबाद में एक मरीज कोरोना पॉजिटिव मिला था। उसके साथ यात्रा करने वाले झांसी के पांच लोगों को जिला अस्पताल में जांच के लिए भर्ती कराया गया था। इन सबको आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है और जांच के लिए सैंपल भेजा गया है जांच रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति पता चलेगी, जांच रिपोर्ट आने के बाद ही उन्हें घर भेजने या कोरेण्टाइन करने का निर्णय लिया जाएगा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY