पोस्टमार्टम हाउस में स्वीपर ने जैसे ही उठाई ब्लेड तो ‘मृत घोषित’ युवक ने पकड़ लिया हाथ, फिर मचा हडकंप

0

भोपाल. एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल युवक को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया. तमाम मेडिकल ओपचारिकताओं के बाद उसकी लाश पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा दी गयी, लेकिन जैसे ही वहां के स्वीपर ने उसका शरीर चीरने के लिए ब्लेड उठाई तो मृत घोषित युवक ने उसका हाथ पकड़ लिया. उसकी सांसें चल रही थीं और वह जिंदा था। इसके बाद हंगामा मच गया, परिजनों ने फौरन युवक को फिर से अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां उसका उपचार किया गया, इसके बाद नागपुर रेफर कर दिया गया है। अस्पताल में ऐसी सूचना में मिलने के बाद लोगों की भीड़ जुट गई है और लोगों डॉक्टरों के खिलाफ नारेबाजी की।

रविवार की रात को छिंदवाड़ा जिले के जुन्नारदेव विकासखंड में प्रसिद्ध हिंगलाज मंदिर के पास युवक बैंक ऑफ इंडिया में मैनेजर रामेश्वर सिंह भारद्वाज के बेटे हिमांशु का एक्सीडेंट हो गया था। हिमांशु भारद्वाज को स्थानीय अस्पताल में इलाज के बाद फौरन नागपुर रेफर कर दिया गया था, लेकिन नागपुर के डॉक्टर ने युवक को मृत घोषित कर दिया था।

स्वीपर का हाथ पकड़ लिया…

सोमवार को सुबह हिमांशु को मृत समझकर सुबह 5.30 बजे छिंदवाड़ा लाया गया। छिंदवाड़ा जिला अस्पताल के डॉक्टर ने भी युवक को मृत घोषित कर उसे मरच्युरी में रख दिया।जैसे ही सोमवार को सुबह पोस्टमार्टम के लिए ले जाया जा रहा था, तभी युवक हिमांशु ने स्वीपर का हाथ पकड़ लिया। इसके बाद तो सारे लोग चौंक गए। परिजनों ने देखा कि युवक की सांसें चल रही हैं। हंगामा मचा तो डॉक्टर ने दोबारा चेक किया। डाॅक्टर ने देखा कि युवक की सांसें कल से अच्छी चल रही थी। हिमांशु को छिंदवाड़ा जिला अस्पताल में उपचार के बाद फिर से नागपुर रेफर कर दिया गया है. इस घटना ने डॉक्टरों पर भी सवाल उठा  हैं.

LEAVE A REPLY