PAK आतंकी ठिकानों पर हमले के कुछ ही घंटे बाद देश में जश्न, लेकिन झांसी में क्यों फूंका PM मोदी का पुतला..?

0

दुर्गा शंकर दीक्षित

झांसी.  देशभर में जहां POK में घुसकर आतंकी ठिकानों को नष्ट करने पर वायुसेना और प्रधानमंत्री मोदी के समर्थन में प्रदर्शन हो रहे हैं तो वहीं झांसी में प्रधानमंत्री का पुतला फूंक दिया गया. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ गृह मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय मंत्री उमा भारती का पुतला झांसी में फूंका गया है. खास बात यह है कि पीएम मोदी का पुतला मंगलवार को उस समय फूंका गया जब देशभर में पाकिस्तान में घुसकर आतंकी कैंप नष्ट करने पर उनकी जय जयकार हो रही है. यह पुतला बुंदेलखंड राज्य निर्माण की मांग को लेकर दहन किया गया. पुलिस देखती रही और पुतला फूंक दिया गया.IMG-20190226-WA0225

बुंदेलखंड निर्माण मोर्चा के अध्यक्ष भानुसहाय ने कहा कि बुंदेलखंड से वादाखिलाफी पर उन्होंने मोदी, राजनाथ और उमा भारती का पुतला फूंका है.

बुंदेलखंड निर्माण मोर्चा की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक
बुन्देलखण्ड राज्य निर्माण की वादा खिलाफी के विरोध में पूर्व घोषणानुसार भारी पुलिस बल को धता दिखाते हुये बुन्देेखण्ड निर्माण मोर्चा के अध्यक्ष भानू सहाय के नेतृत्व में प्रधानमंत्री मोदी , गृह मंत्री राजनाथ सिंह एवं सुश्री उमा भारती के पुतले एक साथ फूक दिये।

सम्पूर्ण बुन्देलखण्ड क्षेत्र में इस बात को लेकर गुस्सा है कि तीनों नेताओं ने बुन्देखण्ड वासियांे से वादा किया था कि तीन साल के भीतर बुन्देलखण्ड राज्य बना देगें। पांच साल पूरे होने को है पर वादा निभाना तो दूर की बात है। वादे पर कार्यवाही तक प्रारम्भ नहीं की गई है।

पुतले फूके जाने के पहले बुन्देलखण्ड निर्माण मोर्चा की ओर से नुक्कड़ सभा की गई जिसमें सभी ने एकराय से बुन्देलखण्ड की जनता से मांग थी कि राज्य निर्माण की वादा खिलाफी करने वालो को 2019 के चुनाव मंे किसी भी प्रकार जीतने नही दें।

जो इन वादा खिलाफियों को हराने की स्थिति में हो उसे जिता दे पर इन्हे हरा कर यह सन्देश भी देने का कार्य किया जाये की जनता की भावनाओं से खेल कर झूठे वादे करने वालो का यही अन्जाम होगा। इससे आने वाले समय में कोई भी जनप्रतिनिधि जनता की भावनाआंे से नही खेलेगा।
पुतला दहन के क्रम में प्रातः से ही पुलिस प्रशासन द्वारा कचहरी क्षेत्र को छावनी में तब्दील कर दिया लेकिन बुन्देलखण्ड के योद्वाओं द्वारा पुलिस को धता बताते हुये (चकमा देकर) पुलिस की नाक के नीचे पुतला दहन कर दिया। पुतला जलाने वालों की टीम में उत्कर्ष साहू के साथ प्रदीप झां, नरेश वर्मा, गिरिजा शंकर राय मीडिया प्रभारी हनीफ खान वरिष्ठ पत्रकार, के  विकास पुरी रहे।

जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, व स्थानीय सांसद केन्द्रीय मंत्री सुश्री उमा भारती का गगन भेदी नारो के साथ पुतला दहन किया गया जिसमें पुलिस मौजूदगी में तीनों पुतलो का बुन्देली योद्वाओं द्वारा आग के हवाले कर दहन किया गया।

वक्ताओं ने एक स्वर में कहा कि राज्य निर्माण अन्दोलन में अग्रिम पक्ति में खड़े होने वाले लोग सत्ता सुख में लीन हो गये है अब इनकी जुबान पर दही जम गया है।

पुतला जलाने वालों में रघुराज शर्मा हमीदा अन्जूम देवी सिंह कुशवाहा, सत्येन्द्र श्रीवास्तव, सुन्दर ग्वाला, मकूल हसन सिद्दीकी, शुभम गौतम, शमीम राईन, कुअंर बहादुर आदिम, प्रेम सपेरे, दुलीचन्द्र कुशवाहा, जाकिर कुरैशी, इमरान खान, रिजवान राईन सहित तमाम कार्यकर्ताओं की मौजूदगी रही.

LEAVE A REPLY