लेखपाल को सपा प्रत्याशी पत्नी के लिए वोट माँगना पड़ा महंगा, इलेक्शन कमीशन ने किया तबादला

0
सपा नेता राजेंद्र चौधरी के साथ कल्पनीत सिंह.

ललितपुर : ललितपुर की तालबेहट तहसील में तैनात लेखपाल कल्पनीत सिंह लोधी को सपा प्रत्याशी अपनी पत्नी ज्योति लोधी के लिए वोट माँगना महंगा पड़ गया. बताया जा रहा है कि वह पत्नी के लिए प्रचार कर रहे थे. सरकारी मुलाजिम होने के बाद भी प्रचार करने पर सपा प्रत्याशी पत्नी के लेखपाल पति का तबादला कर दिया गया है. लेखपाल की सपा नेताओं के साथ कई फ़ोटोज़ सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थीं.

ज्योति लोधी समाजवादी पार्टी के टिकट पर ललितपुर की सदर सीट से चुनाव लड़ रही हैं. ज्योति के पति कल्पनीत सिंह लेखपाल हैं. इसके बाद भी वह पत्नी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे थे. उनकी कई तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही थीं. इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की गई थी. शिकायत के बाद आयोग ने मामला तलब करते हुए उनका तबादला कर दिया. उनका कार्यक्षेत्र अब जालौन की माधवगढ़ तहसील होगी. एसडीएम तालबेहट ने बताया कि लेखपाल का तबादला निर्वाचन आयोग ने कर दिया है.

बता दें कि कल्पनीत सिंह लोधी तालबेहट के विवादित लेखपालों में रहे हैं. वह समाजवादी पार्टी के बड़े नेता और राज्यसभा सांसद चंद्रपाल यादव के बेहद ख़ास माने जाते हैं. उनकी पत्नि ज्योति लोधी इसके पहले जखौरा से जिला पंचायत का चुनाव जीत चुकी हैं. तब चुनाव के दौरान भी कल्पनीत सिंह लेखपाल पर पत्नी के लिए वोट मांगने का आरोप लगा था. इस दौरान प्रचार के दौरान असलहा लेकर चलने का आरोप कल्पनीत सिंह पर लगा था. इसके बाद उनके समर्थकों द्वारा थाने का घेराव कर बवाल किया गया था. इस पर कल्पनीत सिंह और उनकी पत्नि ज्योति के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज़ हुआ था. इसमें ज्योति लोधी को जेल भेजा गया था.

ज्योति जेल में बंद रहने के दौरान ही चुनाव जीत गईं थीं. उस समय वह सपा के प्रत्याशी के खिलाफ ही चुनाव लड़ीं थीं. अब विधानसभा चुनाव में सपा ने सपा के चंद्रभूषण सिंह बुंदेला की जगह टिकट दिया है. कल्पनीत अपनी पत्नि के साथ खुलकर वोट मांग रहे थे.

 

LEAVE A REPLY