पहले ही दिन ऐसे हारे सभी भारतीय खिलाड़ी!

0

pv-sindhu-shuttler-620x400

हांगकांग दूसरी विश्व वरीयता प्राप्त सायना नेहवाल की अनुपस्थिति में भारत के लिए 350,000 डॉलर इनामी राशि वाले हांगकांग ओपन सुपरसीरीज का पहला दिन बेहद निराशाजनक रहा। बुधवार को हांगकांग कॉलेजियम में खेले गए पहले दौर के मुकाबलों में कोई भी भारतीय खिलाड़ी जीत हासिल नहीं कर सका और पहले ही दौर से टूर्नामेंट से भारतीय चुनौती समाप्त हो गई। भारत के शीर्ष पुरुष खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत, पी. वी. सिंधु, अजय जयराम, एच. एस. प्रनॉय और ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा की शीर्ष भारतीय महिला जोड़ी अपने-अपने मुकाबले हार गए।

भारत को पहली बड़ी निराशा किदांबी श्रीकांत से लगी, जो सायना की अनुपस्थिति में भारत के पदक के सबसे बड़े दावेदार थे। पांचवीं विश्व वरीयता प्राप्त श्रीकांत को चीन के तियान हुवेई ने एक घंटा 13 मिनट तक चले संघर्षपूर्ण मुकाबले में 21-16, 15-21, 24-22 से हराया। इस वर्ष श्रीकांत पांचवीं बार किसी टूर्नामेंट के पहले दौर से बाहर हुए हैं। 10वीं विश्व वरीयता प्राप्त हुवेई ने श्रीकांत को पांचवें मुकाबले में पांचवीं बार मात दी।

जयराम के सामने मौजूदा विश्व चैम्पियन सर्वोच्च विश्व वरीयता प्राप्त चीन के चेन लोंग की चुनौती थी, हालांकि उन्होंने कड़ा संघर्ष किया। चेन लोंग ने जयराम को 40 मिनट में 21-17, 21-12 से हराया। चेन लोंग के खिलाफ जयराम की यह चार मैचों में चौथी हार है।

दो बार विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक विजेता रह चुकीं सिंधु भी मौजूदा विश्व चैम्पियन सर्वोच्च विश्व वरीयता प्राप्त स्पेन की कैरोलीना मारिन के खिलाफ ज्यादा देर नहीं टिक सकीं। मारिन ने सिंधु को 35 मिनट में आसानी से 21-17, 21-9 से मात दी। सिंधु पिछले ही महीने डेनमार्क में मारिन को हराने में सफल रही थीं, लेकिन बुधवार के मैच में वह पिछले मैच के अपने प्रदर्शन का एक हिस्सा भी नहीं दे सकीं।

ज्वाला-अश्विनी की जोड़ी को जुंग क्यूंग यून और शिन स्यूंग चान की दक्षिण कोरियाई जोड़ी ने 21-12, 21-15 से मात दी। दोनों प्रतिद्वंद्वी जोड़ियों के बीच यह पहला मुकाबला था।

प्रनॉय ने जापान के केंटा निशिमोटो के खिलाफ जरूर संघर्षपूर्ण मुकाबला खेला। पूरे एक घंटे तक चले मुकाबले में प्रनॉय 15-21, 21-18, 6-21 से हारे। प्रनॉय की हार के साथ ही हांगकांग ओपन से भारतीय चुनौती समाप्त हो गई।

LEAVE A REPLY