महालक्ष्मी पर्व का उल्लास मातम में बदला, हंसते-खेलते डेम में उतरी 5 लड़कियों की मौत

0
बुन्देलखण्ड के सागर में महालक्ष्मी पर्व पर नहाने गईं पांच लड़कियां डूब गईं -रेस्क्यू आपरेशन चलाकर खोजे गए शव
बुन्देलखण्ड के सागर में महालक्ष्मी पर्व पर नहाने गईं पांच लड़कियां डूब गईं -रेस्क्यू आपरेशन चलाकर खोजे गए शव
सागर। बुन्देलखण्ड के सागर जिले की केसली तहसील के गांव घाना में महालक्ष्मी पर्व पांच लड़कियों की मौत के साथ मातम में बदल गया। सोनार नदी पर बने ‘घाना डेमÓ में  महालक्ष्मी पर्व के दौरान लड़कियां महिलाओं के साथ नहाने गईं थीं।
घटनाक्रम के मुताबिकसागर से करीब 60 किमी दूर स्थित है केसली तहसील। यहां के घाना गांव में सोनपुर परियोजना के तहत सोनार नदी पर स्थित डेम पर शुक्रवार सुबह महालक्ष्मी पर्व के दौरान बड़ी संख्या में गांव की महिलाएं और बच्चे डेम पर नहाने गए थे। इसी बीच छह बच्चे हंसते-खेलते हुए डेम में उतरे और डूबने लगे। वहां मौजूद महिलाओं के चीखने-चिल्लाने पर गांव के लोग दौड़े, लेकिन तब तक बच्चे गहरे पानी में चले गए। हालांकि गांव वालों ने 10 साल के बच्चे आशीष पुत्र पूरन को बचा लिया, लेकिन 5 लड़कियों को नहीं बचाया जा सका। घटना की जानकारी लगते ही एसपी स

चिन अतुलकर पहुंच गए थे। इस घटना पर जिला प्रशासन ने प्रत्येक मृतक के परिजनों को 1-1 लाख रुपए राहत राशि देने की घोषणा की है।

हादसे में हुई इन लड़कियों की  मौत
1.भागबाई पुत्री मुन्ना(16)
2.सोनम पुत्री गणेश(11)
3.नेहा पुत्री रामस्वरूप(12)
4.राधा पुत्री रतिराम(12)
5.कुमारी नेहा पुत्री रामसेवक(13)

LEAVE A REPLY