मजदूरी मांगी तो मिली मौत, मर्डर के बाद घर के बाहर लाश फेंक गए दबंग

0
ललितपुर। थाना गिरार अंतर्गत ग्राम रमगड़ा में मजदूरी मांगने गये एक मजूदर को दबंगों ने उसकी हत्या कर दी। बाद में शव को घर के बाहर फेंककर चले गये। सूचना मिलते ही क्षेत्राधिकारी महरौनी पुलिस मौक ेपर पहुंची और मौका मुआयना किया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। पुलिस ने मृतक के भाई की तहरीर पर आरोपियों के विरूद्ध मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इस घटना के बाद से मृतक परिवार में कोहराम मच गया है।
ग्राम रमगढ़ा निवासी 30 वर्षीय लोकमन पुत्र सगबग अहिरवार मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार को पालन पोषण करता था। एक माह पूर्व उसने गांव के ही एक व्यक्ति के यहां उद की फसल की कटाई की थी। लेकिन खेत मालिक ने उसको मजदूरी नहीं दी थी। विगत दिवस  वह मजदूरी मांगने उस व्यक्ति के घर गया था। जैसे ही वह घर पहुंचा और मजदूरी मांगी। इसी  बात से क्षुब्ध होकर दबंग ने उसकी पिटाई कर दी जिससे उसकी मौत हो गई। बाद में आरोपी उसे लादकर घर के बाहर फेंककर चले गये।
पोस्टमार्टम हाउस के बाहर मृतक के भाई करन अहिरवार ने बताया कि गांव के ही इमरत पुत्र बुटना यादव के यहां विगत एक माह पूर्व उसके   भाई लोकमन से 10 दिन तक उर्द की कटाई की थी लेकिन मजदूरी नहीं दी थी। मज दूरी मांगने पर वह टालमटोल कर देता था।
विगत दिवस वह मजदूरी मांगने उसके घर पर गया हुआ था लेकिन उसने मजदूरी न देकर उसके साथ मारपीट कर दी जिससे उ सकी मौत हो गई। बाद में आरोपी शव को घर के बाहर फेंककर चले गये। उस समय घर पर छोटे छोटे बच्च्ेा थे। परिजन खेत पर गये हुये थे।  शाम को जब वह घर पहुंचे तो बच्चों ने घटना की जानकारी दी। परिजनों ने पुलिस को सूचना दी।
सूचना मिलते ही क्षेत्राधिकारी महरौनी बलदेव सिंह खनेड़ा समेत थानाध्यक्ष मदनपुर, मड़ावरा, गिरार दलबल समेत मौके पर पहुंचे और मौक ा मुआयना किया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। मृतक तीन भाईयों में बड़ा था उसका एक पुत्र है। उसके नाम जमीन नहीं थी। जिस कारण वह मेहनत मजदूरी कर परिवार को पालन पोषण करता था। उसकी मौत के बाद से परिवार में कोहराम मच गया है।वहीं, पुलिस ने मृतके के भाई करन अहिरवार की शिकायत पर गांव के ही र ामदास पुत्र बुटना, इमरत पुत्र बुटना, सुनील पुत्र इमरत पर भादिव की धारा 302 व हरिजन उत्पीडऩ की धाराओं में मामला दर्ज किया है।

LEAVE A REPLY