कुपोषण को लेकर सिंधिया ने सीएम शिवराज को लिखा खत

0
भोपाल। कांग्रेस सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी को पत्र लिखकर कुपोषण के लिए जिम्मेदार लोगों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है।
सिंधिया ने श्योपुर जिले के कराहल एवं विजयपुर ब्लॉक में कुपोषण के कारण हुई बच्चों की मौत पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री को पत्र लिखकर स्वतंत्र एवं निष्पक्ष जांच कराके इसके लिए जिम्मेदार दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है। पत्र में सिंधिया ने उल्लेख किया है कि श्योपुर जिले के आदिवासी बाहुल्य ब्लॉम कराहल एवं विजयपुर पिछले दो महीने में कुपोषण के कारण 19 बच्चों की मृत्यु हो चुकी है, 100 से ज्यादा बच्चे बीमार हैं। लगभग 35-40 बच्चे अस्पतालों में भर्ती हैं। इसी प्रकार की भयावह स्थिति मुरैना जिले के पहाडग़ढ़ व कैलारस ब्लाकों के आदिवासी क्षेत्रों में भी है। श्योपुर जिले के 16 गांवों में जो सर्वे किया गया है, उसके अनुसार एक माह में 62 बच्चों की मौत कुपोषण के कारण हो चुकी है। प्रदेश सरकार का सरकारी अमला इस गंभीर स्थिति को स्वीकार कर, उसका निदान करने के स्थान पर कुपोषण की इस सच्चाई को दबाने में लगा हुआ है। विगत 3 सितंबर को विजयपुर ब्लॉक के गोलीपुरा गांव में छह बच्चों की मौत का कारण कुपोषण बताने पर ब्लॉक मेडिकल आफिसर डॉ. प्रदीप कुमार का वहां से तत्काल तबादला कर दिया जाता है और सीएमएचओ डॉ. आरपी सरल उनकी रिपोर्ट को बदल कर मौत का कारण कुछ और बताते हैं। हालांकि, बाद में स्वास्थ मंत्री रुस्तम सिंह ने इन मौतों का कारण कुपोषण होना होना स्वीकार किया है। प्रदेश के महिला एवं बाल विकास विभाग के प्रमुख सचिव जेएन कंसोटिया ने भी इन क्षेत्रों का दौरा करके कुपोषण से हुई इन मौतों को स्वीकार करने के बजाय इन पर पर्दा डालने की कोशिश की है।

LEAVE A REPLY