अखिलेश बोले, झगड़ा परिवार का नहीं सरकार का है, शिवपाल ने कहा मंत्री हूं मंत्री रहूंगा

0
akhilesh and shivpal
akhilesh and shivpal

लखनऊ।  समाजवादी पार्टी के भीतर पारिवारिक कलह अब सड़क पर आती दिख रही है। चाचा-भतीजे की तकरार पर पिता मुलायम सिंह यादव के दखल की दरकार है और यदि यहां मुलायम सिंह के सियासी अनुभव में थाड़ी भी चूक हुई तो फिर जो पार्टी उन्होंने अब तक पारिवारिक एकता के बूते खड़ी की उसका बिघटन भी तय है।  मंगलवार को सपा के प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए जाने के  बाद ही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शिवपाल से राजस्व, सिंचाई और पीडब्ल्यूडी जैसे बड़े विभाग छीन लिए।  अखिलेश के इस फैसले से शिवपाल बेहद े नाराज हैं। सैफई में बुधवार को मीडिया से बात करते हुए शिवपाल ने कहा पार्टी में होगा वही जो नेताजी कहेंगे । लेकिन, वहीं इस  विवाद पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, ये परिवार का नहीं, सरकार का झगड़ा है। बाहरी लोग हस्तक्षेप करेंगे तो पार्टी कैसे चलेगी।  मैने कुछ फैसले नेताजी के कहने से तो कुछ खुद लिए। चर्चा इस बात की भी है कि मुलायम ने शिवपाल-अखिलेश को सुलह के लिए दिल्ली बुलाया है, लेकिन अखिलेश नहीं पहुंचे। अखिलेश ने यह जरूर कहा कि  नेताजी की बात कोई नहीं टाल सकता। मैं मानता हूं कि परिवार की बात है। परिवार में सब नेताजी की बात मानते हैं। अगर बाहर के लोग हस्तक्षेप करेंगे तो पार्टी कैसे चलेगी।

शिवपाल बोले-नहीं दूंगा इस्तीफा
 मुलायम सिंह के छोटे भाई शिवपाल यादव ने मुलायम सिंह यादव से बात करने के बाद उनके इस्तीफा दिए जाने के सभी कयासों को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि वह मंत्री हैं और मंत्री रहेंगे। उनको संगठन की जिम्मेदारी सौंपी गई तो पार्टी को मजबूत करने के मिशन में जुटेंगे।  अपने विभाग छीने जाने और दो मंत्रियों और चीफ सेक्रेटरी को हटाए जाने के बारे में सवाल पर शिवपाल ने कहा कि यह मुख्यमंत्री का अधिकार है।

LEAVE A REPLY